29 वां राष्ट्रीय सब जूनियर कबड्डी प्रतियोगिता 2017

29 वां राष्ट्रीय सब जूनियर कबड्डी प्रतियोगिता 2017

रांची, झारखंड/रोहित कुमार पांडेः झारखंड की उपराजधानी दुमका के आउटडोर स्टेडियम में 4 नवंबर से जारी 29वां राष्ट्रीय सब जूनियर कबड्डी प्रतियोगिता का भव्यता के साथ समापन हो गया। बालक तथा बालिका दोनों वर्गों में साईं की टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए खिताब पर कब्जा जमाया। बालक वर्ग में हुए रोमांचक फाइनल मुकाबले में साईं की टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए उत्तर प्रदेश की टीम को 27-15 के अंतर से परास्त कर खिताब पर कब्जा जमाया। वही बालिका वर्ग में साईं की टीम ने गत चैंपियन हरियाणा को परास्त कर खिताब पर कब्जा जमाया। फाइनल मुकाबले में साईं की टीम ने हरियाणा को 36-16 के अंतर से परास्त किया। बालिका वर्ग में साईं की टीम की ओर से निशा ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए न सिर्फ अपने टीम का सफल नेतृत्व किया बल्कि अपनी टीम को सफलता की बुलंदी तक भी ले गई। इस टीम में निशा के अलावा पूनम, श्रुतिका नेगी,  डिंपल, मेनो, करीना, अंतिम तोगड़िया, साक्षी ठाकुर, कोमल, तमन्ना, मनीषा तथा अनु ने भी अपने खेल कौशल से लोगों को बेहद प्रभावित किया। टीम की मैनेजर सुनीता रानी तथा प्रशिक्षिका दमयंती ने अपने खिलाड़ियों को बेहतरीन ढंग से प्रोत्साहित किया। वही बालक वर्ग में साईं टीम की ओर से कप्तान विजयंत जागलान के नेतृत्व में राकेश, दुग्यालासाई किरण, अमित, अंकित, सूरजआनंद राव पाटिल, कुलदीप, गौरव, सोनू, प्रवीण, विकास तथा विशाल हौज ने अपने बेहतरीन खेल से सबको प्रभावित किया। टीम के मैनेजर संदीप वैद्यवान तथा प्रशिक्षक संजीव शर्मा थे। इससे पूर्व बालक वर्ग में उत्तर प्रदेश ने मध्यप्रदेश को 36- 24 तथा साईं की टीम ने तमिलनाडु को 36-16 के अंतर से परास्त कर फाइनल में अपनी जगह बनाई थी। बालिका वर्ग में साईं की टीम ने बिहार को 52-09 तथा हरियाणा की टीम ने छत्तीसगढ़ को 30-21 के अंतर से परास्त कर फाइनल में अपना स्थान सुरक्षित किया था। समापन समारोह में विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कृत करते हुए झारखंड सरकार के भूमि सुधार एवं निबंधन कला संस्कृति पर्यटन एवं खेलकूद विभाग के मंत्री अमर कुमार बाउरी ने अपने संबोधन में कहा कि शीघ्र ही झारखंड की उपराजधानी दुमका स्थित बिरसा मुंडा आउटडोर स्टेडियम का जीर्णोद्धार किया जाएगा। इस हेतु उन्होंने दुमका के उपायुक्त को इसका प्राक्कलन तैयार कर विभाग को भेजने का निर्देश दिया ।उन्होंने आश्वासन दिया कि आगामी बजट में ही इस प्रस्ताव को स्वीकार कराने की हरसंभव कोशिश करेंगे ।मंत्री ने कहा कि झारखंड की भूमि खेलकूद प्रतिभा के विकास के हेतु बेहद उपयुक्त है। गांव गांव से खेल प्रतिभा को निखारने हेतु मिशन ओलंपिक 2024 के तहत झारखंड सरकार ने कमल क्लब का गठन किया है। हरियाणा सरकार की तर्ज पर झारखंड सरकार भी गांव से खेल प्रतिभा को निखारने हेतु कबड्डी खेल को भी जल्द ही कमल क्लब के माध्यम से निखारनेे का प्रयास करेगी। अवसर पर मंत्री ने झारखंड कबड्डी एसोसिएशन का वेबसाइट भी लॉन्च किया। अवसर पर अपने संबोधन में दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि यह सच है कि इस आयोजन में किसी टीम ने जीत हासिल की है या फिर किसी टीम को हार का सामना करना पड़ा है परंतु वास्तव में सबसे बड़ी जीत खेल की हुई है। उन्होंने तमाम खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे नौजवान खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना पहचान बनाएं। उन्होंने दमकता दुमका को दंगल दुमका बनाने में आयोजकों की भूमिका की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। उपायुक्त ने भविष्य में इसप्रकार के आयोजन को और बेहतर बनाने हेतु हर संभव प्रयास करने का आश्वासन दिया। एमेच्योर कबड्डी फेडरेशन के सचिव दिनेश पटेल ने अपने संबोधन में कहा कि आयोजन में कुछ त्रुटियां अवश्य होगी परंतु खिलाड़ियों ने अपने बेहतरीन खेल कौशल का प्रदर्शन कर सबका दिल जीत लिया। उन्होंने भविष्य में झारखंड में और भी कबड्डी प्रतियोगिता आयोजित कराने का आश्वासन दिया। अवसर पर अपने संबोधन में नगर परिषद अध्यक्षाअमिता रक्षित ने दुमका शहर में देश के कोने-कोने से आए खिलाड़ियों के प्रति अपना आभार प्रकट किया। उन्होंने झारखंड टीम के खराब प्रदर्शन पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि भविष्य में झारखंड के खिलाड़ी भी उम्दा प्रदर्शन अवश्य करेंगे। अवसर पर झारखंड कबड्डी एसोसिएशन के सचिव विपिन सिंह ने बेहतर आयोजन के लिए जिला प्रशासन और आयोजन समिति के प्रति धन्यवाद प्रकट किया। इस अवसर पर बोकारो कबड्डी एसोसिएशन के अध्यक्ष गोपाल ठाकुर ने भी खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए दुमका जिला प्रशासन तथा आयोजन से जुड़े तमाम लोगों के प्रति कृतज्ञता प्रकट की। इस अवसर पर झारखंड सरकार की समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार प्रशिक्षु आईएएस विशाल सागर उप विकास आयुक्त शशिरंजन अनुमंडलाधिकारी राकेश कुमार नगर परिषद अध्यक्ष अमिता रक्षित जिला नजारत पदाधिकारी सुदेश कुमार डीपीआरओ राशिद अख्तर सहित आयोजन को सफल बनाने में कबड्डी फेडरेशन आँफ इंडिया के जेनरल सेक्रेटरी दिनेश पटेल, पूर्वी जोनल प्रभारी कुमार विजय, संयुक्त सचिव एस.एस.लक्कड़, रेफरी बोर्ड के महासचिव दिनेश पटेल, टेक्निकल कमिटी के महासचिव जगदीश्वर यादव, रेफरी बोर्ड के संयोजक विश्वास मोरे तथा गोविंद शर्मा, आयोजन समिति के सचिव उमाशंकर चौबे, बी.बी.गुहा, राज्य कबड्डी संघ के अध्यक्ष राजीव रंजन मिश्रा, सचिव विपिन कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष हैदर हुसैन, मैदान समिति के संयोजक गोविंद प्रसाद, जय प्रकाश झा जयंत, मीडिया प्रभारी मदन कुमार, रेनू चौबे, जीवानन्द यादव, अरविंद कुमार, नवल किशोर झा, जयराम शर्मा, दीपक कुमार झा, सपन पत्रलेख, बंशीधर पंडित, रंजन कुमार पांडे, निमाय कांत झा, मनोज घोष, राजीव मिश्रा, राम प्रवेश सिंह, मुकेश ,अंकित, सौरभ, सलिल, सहित तकनीकी पदाधिकारी क्रमशः उत्तर प्रदेश के विनोद कुमार यादव, मध्य प्रदेश के बृजेश बागोड़ा, असम के नूरुल अमीन तथा भरत राभा, त्रिपुरा के गौतम राय, उत्तराखंड के नरेंद्र सिंह, हिमाचल प्रदेश के धर्मपाल तथा महेंद्र पाल, पश्चिम बंगाल के प्रदीप घोष तथा बी.पी.पात्रा, छत्तीसगढ़ के मोरध्वज सिंह तथा शोभाराम, मणिपुर के ध्रुव बत्रा, आंध्र प्रदेश के जी यमुना रानिस तथा एस.सिम्हाचलम, बिहार के श्यामलाल, गुजरात के राकेश पटेल तथा मिलन सेलट, महाराष्ट्र के सचिन सतपाल तथा अजय म्हात्रे, तमिलनाडु के एम रमेश बाबू, पी बालाकृष्णन, एन. शिवा, एस लिंगम गॉड, ए.रामाकुंडल, राजस्थान के आदिल जोसेफ, केरल के इस जयपाल, तेलंगाना के पी.सत्यनारायणन, गोवा के एम.भी.सुरलिकार तथा एमैच्यौर कबड्डी फेडरेशन आँफ इंडिया के रौनक रवल, यू.सिंह गोहिल और भवेश गोहिल की भूमिका उल्लेखनीय रही।

Share This Post

Post Comment