आडवाणी के खिलाफ लड़ने वाले सबसे बड़े नेता ने थामा राहुल का हाथ

मुंबई, महाराष्ट्र/राजू सोनीः गुजरात चुनाव का बिगुल बज चुका है। चुनाव आयोग ने भी तारीखों का ऐलान कर दिया है। गुजरात में बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर है। 22 सालों से सत्ता काबिज बीजेपी को इस बार कांग्रेस मात देने की पूरी तैयारियों में जुटी है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात चुनाव की कमान संभाली हुई है। वे गुजरात में काफी सक्रिय हैं और नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार पर ‘विकास’ के मुद्दे को लेकर निशाना साध रहे हैं। कहा जा रहा है कि पहली बार बीजेपी अपने गढ़ गुजरात में बैकफुट में नज़र आ रही है। पीएम मोदी अपने घर में हारे तो इसका असर 2019 के लोकसभा चुनावों पर भी पड़ेगा। वहीं, राहुल गांधी का राजनीतिक करियर भी इस चुनाव में दांव पर लगा है। इसी बीच कांग्रेस के लिए ए‍क बड़ी खबर आ रही है। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है। गुजरात में कई बड़े चेहरों के साथ पार्टी के करीब 100 नेताओं ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। इनमें आम आदमी पार्टी की महिला विंग की अध्यक्ष वंदना पटेल और 2014 के लोकसभा चुनाव में लाल कृष्ण आडवाणी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले ऋतुराज मेहता भी शामिल हैं। लाल कृष्ण आडवाणी ने गांधीनगर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था। वंदना ने भी लोकसभा चुनाव महेसाणा सीट से लड़ा था।खबरों के मुताबिक गुजरात प्रदेश प्रवक्ता मनीष दोषी ने बताया कि वंदना और ऋतुराज मेहता सहित आम आदमी पार्टी के करीब 100 कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के समक्ष कांग्रेस में शामिल हुए हैं। यह कदम जहां आप के लिए एक झटका है, वहीं कांग्रेस के लिए खुश होने की एक वजह है। आम आदमी पार्टी के 100 नेताओं के कांग्रेस में शामिल होने से उसे मजबूती मिली है। बता दें, आम आदमी पार्टी ने गुजरात में 182 विधानसभा सीटों में से 150 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया था। आम आदमी पार्टी ने करीब दर्जनभर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा भी कर दी थी। गुजरात में 4 और 14 दिसंबर को दो चरणों में विधानसभा चुनाव है। जिसका परिणाम 18 दिसंबर को जारी किया जाएगा। बता दें इससे पहले बीजेपी की अपनी सहयोगी पार्टी शिवसेना ने मोदी की मुश्किलें बढ़ा दी थी। शिवसेना ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। इतना ही नहीं महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने राहुल गांधी की जमकर तारीफ की थी। शिवसेना नेता संजय सिंह राउत का कहना था कि नरेन्द्र मोदी की लहर फीकी पड़ गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी देश का नेतृत्व करने में सक्षम हैं। उन्होंने से भी कहा था कि राहुल देश के प्रधानमंत्री बनने के लिए सक्षम हैं। राउत ने कहा था कि जीएसटी को लागू किए जाने के खिलाफ गुजरात के लोगों में रोष इस बात का संकेत है कि भाजपा को चुनाव में एक कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा।

Share This Post

Post Comment