निकाय निर्वाचन कार्य में लगे अधिकारियों को मिला प्रशिक्षण

निकाय निर्वाचन कार्य में लगे अधिकारियों को मिला प्रशिक्षण

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबूः जिला पंचायत सभागार में निकाय निर्वाचन में लगे अधिकारियों को बृहद प्रशिक्षण दिया गया। निर्वाचन कार्य निष्पक्ष व स्वतंत्र ढंग से सम्पन्न कराने के लिए अधिकारियों को निर्वाचन की बारीकियों के बारे में प्रशिक्षित किया गया। मास्टर ट्रेनर बी0एल0 मौर्य ने अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया तथा अधिकारियों को निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार निर्वाचन कार्य सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक निर्देशों को अनुपालन करते हुए निर्वाचन कार्य सम्पन्न कराने के निर्देश दिए गए। जिला निर्वाचन अधिकारी जेबी सिंह ने अधिकारियों को निर्वाचन कार्य में पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता बरतने तथा भयमुक्त वातावरण में निर्वाचन कार्य सम्पन्न कराने के निर्देश दिए। प्रचार-प्रसार कार्य के बारे में जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग के आदेशों का जिले में अक्षरशः पालन कराया जायेगा और यदि किसी भी राजनैतिक दल या उनके समर्थकों द्वारा बिना अनुमति सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार किया जाएगा तो उनके विरूद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियिम के सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कार्यवाही कर जेल भेजा जाएगा। उक्त निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट जेबी सिंह ने दिया है। उन्होने कहा कि वर्तमान में प्रगतिशील निकाय निर्वाचन के दौरान सोशल मीडिया, फेसबुक एकाउन्ट, व्हाट्सएप, ट्विटर एकाउन्ट्स, यूट्यूब, विकीपीडिया जैसे सोशल मीडिया के एकाउन्ट्स के माध्यम से पोस्ट किये जाने वाले विभिन्न प्रकार के कन्टेन्ट जैसे फोटो, वीडियो, आॅडियो क्लिप या मैसेज पर मीडिया सेल के माध्यम से विशेष निगरानी रखी जा रही है। उन्होने सोशल मीडिया के माध्यम से वोट के लिए जनसाधारण तक गलत, भ्रामक तथा सनसनी फैलाने वाली सूचनांए व प्रलोभन देने वाले सभी प्रकार के संदेशों पर प्रशासन की सख्ती से पेश आएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने जिले के सभी केबल आपरेटरों को सख्त निर्देश दिये हैं कि कोई भी केबल आपरेटर या टीवी चैनल किसी ऐसे विज्ञापन का प्रसारण नहीं करेगा जो चुनाव आचार संहिता के विरूद्ध हो अथवा देश की विधि के अनुरूप न हो एवं जो नैतिकता, मर्यादा एंव भावनाओं या विचारों को ठेस पहुंचाता हो अथवा जो घृणित, भड़काऊ या दहलाने वाला हो। यदि कोई केबल आपरेटर इसका उल्लघंन करता पाया गया तो केबल टेलीविजन नेटवर्क अधिनियम-1995 की धारा-12 के तहत सम्पूर्ण प्रसारण उपकरण जब्त किया जा सकता है तथा धारा-16 के अधीन अन्य दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान एडीएम रत्नाकर मिश्र, नगर मजिस्ट्रेट पीडी गुप्ता, मास्टर ट्रेनर बी0एल0 मौर्य, सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment