गोरखपुर के स्कूल में बंद हो गई बीमार छात्रा, ताला तोड़कर निकाला

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः पिपराइच थाना क्षेत्र के महरी गांव के उच्‍च प्राथमिक स्‍कूल में शिक्षिकाओं की लापरवाही से विद्यालय में बंद हो गई छात्रा को परिजनों ने सोमवार की रात ताला तोड़कर निकाला। ग्रामीण शिक्षिकाओं पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। महरी गांव निवासी सुदर्शन की पुत्री अनुपमा आठवीं की छात्रा है। तबीयत खराब होने के बावजूद वह पढ़ने के लिए गई। कुछ देर पढ़ने के बाद उसके सिर में पीड़ा शुरू हो गई। वह परीक्षा कक्ष में जाकर सो गई। बताते हैं कि सोते हुए वह अर्धबेहोशी की हालत मे आ गई। विद्यालय बंद होने का समय आया तो शिक्षिकाओं ने ध्‍यान ही नहीं दिया कि परीक्षा कक्ष में कोई छात्रा सोयी हुई है। उन्‍होंने विद्यालय भवन में ताला लगाया और सभी अपने घर चली गईं। अनुपमा जब घर नहीं आई तो परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी। देर रात ख्‍याल आया कि वह पढ़ने गई तभी से घर नहीं आई। परिजन स्‍कूल गए। वहां पर आवाज लगाई। अंदर से अनुपमा की कराहते हुए आवाज आई तब परिजनों ने विद्यालय का ताला तोड़कर उसे बाहर निकाला। अनुपमा ने परिजनों को बताया कि वह कैसे कमरे में रह गई। मंगलवार को सुबह 10 बजे से ही ग्रामीण विद्यालय पर पहुंच गए और शिक्षकाओं पर कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। हंगामें की खबर पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को समझााकर किसी तरह शांत कराया।

Share This Post

Post Comment