विरोध के बाद पुलिस की ओर से आश्वासन पर मामला

जालोर, राजस्थान/सदारामः सांचौर थाना क्षेत्र के लाछड़ी सरहद में भीमसिंह भाटी के तेलंगान पुलिस द्वारा एनकाउंटर का परिजनों और समाजबंधुओं द्वारा विरोध के बाद पुलिस की ओर से आश्वासन पर मामला 24 घंटे बाद सुलझ गया और परिजन पोस्टमार्टम के लिए राजी हुए। इधर, जालोर के राजकीय अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद शव करीब 7 बजे परिजनों को सुपुर्द किया गया। इससे पूर्व सवेरे शुरु हुआ वार्ता का दौर दोपहर तक चला। इस दौरान परिजनों ने हत्या का प्रकरण दर्ज करवाने, आरोपितों की गिरफ्तारी करने की मांग पर पुलिस की ओर से शनिवार दोपहर में सहमति जारी की गई। सहमति वार्ता में एसपी विकास शर्मा, सांसद देवजी पटेल, भोमिया समाज के नेता ऊमसिंह चांदराई, राजपूत समाज के अध्यक्ष राव मोहनसिंह चितलवाना की मौजूदगी में वार्ता हुई। जिसके बाद दोपहर 1.20 बजे पुलिस जाब्ते के साथ शव को जालोर रवाना किया गया। शाम 4.15 बजे भीमसिंह का शव जालोर पहुंचा। भारी पुलिस जाब्ते के बीच शव को राजकीय अस्पताल की मोर्चरी तक पहुंचा गया। जहां पर भीमसिंह के भाई खुशालसिंह की सहमति के बाद पोस्टर्माटम की प्रक्रिया शुरू हुई। पहले एक्स-रे फिर पीएम शाम को 4.20 बजे शव का पहले स्तर पर मेडिकल शुरू किया गया। पुलिस जाब्ते के साथ शव को एक्सरे-रूम तक पहुंचाया गया, जहां एक्स-रे के बाद शव को मोर्चरी में पहुंचाया गया। जहां पर गठित टीम में डॉ. वीपी मीणा, विकास मीणा, डॉ. आरसी मीणा, डॉ. हेमंत जैन और पीएमओ एसपी शर्मा की मेडिकल टीम द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम के दौरान पुलिस द्वारा वीडियोग्राफी भी करवाई गई। अस्पताल की घेराबंदी भीमसिंह का शव जालोर पहुंचने से पहले ही अस्पताल के इर्द गिर्द चप्पे चप्पे पर पुलिस जाब्ता तैनात रहा। अस्पताल के मुख्य गेट के पास, अस्पताल के पिछले हिस्से समेत मोर्चरी की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया। इधर मौके पर एसपी विकास शर्मा, एसडीएम राजेंद्रसिंह सिसोदिया, एएसपी जालोर पीडी धानिया, पाली एएसपी ज्योति स्वरूप, पुलिस उप अधीक्षक दुर्गसिंह, सीआई राजेंद्रसिंह राठौड़ समेत पुलिस जाब्ता तैनात रहा। राजपूत समाज के लोग पहुंचे पोस्टमार्टम के दौरान अस्पताल के इर्द गिर्द काफी संख्या में राजपूत और भोमिया राजपूत समाज के लोग पहुंचे। इससे पूर्व मृतक के भाई खुशालसिंह के साथ भोमिया राजपूत समाज से ऊमसिंह चांदराई भी पहुंचे। इधर, मारवाड़ राजपूत महासभा के अध्यक्ष हनुमानसिंह भी जालोर पहुंचे। उन्होंने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। यदि ऐसा नहीं होता है तो आंदोलन का रुख अपनाया जाएगा। संचार सेवाएं बाधित भीमसिंह एनकाउंटर प्रकरण के बाद शनिवार को सांचौर क्षेत्र में इंटरनेट सेवाएं बाधित रही। इधर, पोस्टमार्टम के लिए शव जालोर के राजकीय अस्पताल तक पहुंचने के बाद शाम को इंटरनेट सेवाएं कुछ नेटवर्क पर बंद रही। सोशल मीडिया पर छाया रहा एनकाउंटर प्रकरण भीमसिंह एनकाउंटर शनिवार को दिनभर चर्चा का विषय बना रहा। लोगों ने इस पर पक्ष विपक्ष के कमेंट दिए। वहीं भीमसिंह के कुछ पारिवारिक फोटो भी सोशल मीडिया पर छाए रहे। इस दौरान कुछ लोगों ने राजस्थान पुलिस की अन्य राज्यों की पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर भी तुलनात्मक कमेंट भी लिखे। 6.50 बजे सुपुर्द किया शव करीब ढाई घंटे तक मेडिकल बोर्ड द्वारा शव का विभिन्न स्तर पर पोस्टमार्टम किया गया। जिसके बाद करीब शाम 6.50 बजे पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया गया। जिसके बाद परिजन शव लेकर रवाना हुए।

Share This Post

Post Comment