दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के शिक्षा प्रकल्प द्वारा दिवाली कार्यक्रम का आयोजन

नई दिल्ली/अरविंद कुमार यादवः ‘दीपावली’ का अर्थ होता है – दीपों की माला या कड़ी। दीवाली प्रकाश का त्यौहार है। ‘प्रकाश का त्यौहार’ दीवाली पर्व अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है। यह पर्व समाज में बड़े उल्लास, भाई चारे और प्रेम का सन्देश भी प्रसारित करता है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान का अभावग्रस्त बच्चों को मूल्याधारित शिक्षा प्रदान करता सामाजिक प्रकल्प मंथन- ‘संपूर्ण विकास केन्द्र’ ने भी इस वर्ष दीपावली उत्सव को बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया। यह ‘दिल्ली’ के विकासपुरी स्थित अनमोल हाऊस में मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ नमन व शान्ति पाठ से किया गया। तत्पश्चात् ‘विवेक के प्रतीक’ भगवान गणेश की वंदना में नृत्य प्रस्तुती की गई। अनन्तर भारतीय परम्परा का निर्वहन करते हुए अथितियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित किया गया। इसी कड़ी में दीपावली की महत्ता को स्पष्ट करते हुए बच्चों द्वारा अनेकानेक प्रस्तुतियाँ की गई। बच्चों ने नृत्य, गान, नाटिका व अन्य प्रस्तुतियों द्वारा दीपावली का यह पावन उत्सव मनाया। असत्य पर सत्य के विजय को द्योषित करते हुए बच्चों ने नुक्कड़ नाटक का भी मंचन किया। इसी क्रम में बच्चों के भारतीय संस्कृति संबंधित ज्ञान संवर्धन हेतु प्रश्नावली सत्र का भी आयोजन किया गया। इन विविध क्रियाकलापों द्वारा बच्चों में सौहार्द व एकता की भावना का संचार किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में निगम पार्षद श्रीमती सरिता जिंदल जी (विकासपुरी क्षेत्र), इग्नू के उप-निदेशक श्री पंकज खन्ना जी, कोलम्बिया फाउंडेशन स्कूल की प्रधानाध्यापिका श्रीमती दीपशिखा जी, विकास पुरी वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री जी. एस. सेठी जी व ओनर किड्स कैसल स्कूल के पुनीत बजाजजी भी उपस्थित रहे। गणमाननीय अतिथियों ने अपने प्रभावशाली वक्तव्यों द्वारा दीपावली के उत्सव को मनाने के पीछे छिपे मर्म को स्पष्ट करते हुए बच्चों को प्रगति के पथ पर निरन्तर बढ़ते रहने की शुभकामना दी अथवा दिव्या ज्योति जाग्रति संस्थान के सामजिक प्रकल्प मंथन की अत्यंत प्रशंसा करते हुए कहा कि संस्थान पूरी ईमानदारी से शिक्षा के इस कार्य को आगे बढ़ा रहा है। इसके अतिरिक्त बच्चों को उनके स्पोंसर्स से मिलाया गया। उन लोगों ने दीपावली के भेंट स्वरूप बच्चों को स्कूल बैग वितरित किया तथा उन्हें प्रोत्साहित भी किया। मंथन प्रकल्प की कार्यक्रम संयोजिका साध्वी दीपा भारती जी ने बच्चों में आने वाले परिवर्तन को दर्शाती हुई एक प्रभावशाली विडियो को दिखाया और कहा कि इस प्रकल्प की सफलता के पीछे छिपी दिव्य प्रेरणा पूजनीय गुरुदेव ‘सर्व श्री आशुतोष महाराज जी’ हैं। सभी स्पोंसोर्स, डोनर्स, अथवा अतिथियों ने इस अलग अंदाज़ में मनाई गयी शुभ दीपावली की बखूभी सराहना की व् बच्चों से हुई इस मुलाकात में अपनी ख़ुशी को जाहिर भी किया।

Share This Post

Post Comment