उर्स के कुल वाले दिन शराब दुकान बंद करने की मांग मुरादाबाद में भी

मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश/महबूब आलमः महबूब आलम रज़वी उर्स-ए-रजवी की तैयारियों दरगाह के लोग जुट गए हैं। उर्स के लिए जायरीन ने भी दस्तक देनी शुरू कर दी हैं। प्रशासनिक और पुलिस महकमा भी उर्स को लेकर अलर्ट हो गया है। 13 नवंबर को उर्स का आगाज होगा। उलेमा ने उर्स वाले दिन शराब दुकान और भट्टी बंद की मांग प्रशासन से की है। तहरीके तहाफ्फुजे सुन्नियत (टीटीएस) मौलाना आरिफ रज़ा सिद्दीकी ने कहा कि बरेली की पहचान देश विदेश में आला हजरत की वजह से है। उर्स में आने वाले जायरीन बरेली और प्रशासन के मेहमान हैं। वैसे तो उर्स तीन दिन चलता है लेकिन कुल रस्म वाले दिन शराब की दुकान बंद होनी चाहिए। हमने प्रशासन से मांग की है। मदरसा मक़सूदया में नाज़िमे आला हजरत अल्लामा मुफ्ती शमशाद रज़ा नईमी ने बताया कि उर्स में यातायात और सुरक्षा के इंतजाम को लेकर प्रशासन के समक्ष मांग रखी जा चुकी है। उर्स के आखिर दिन काफी तादाद में लोग कुल शरीफ की रस्म में शिरकत करते हैं। इस दिन शराब की दुकान बंद होना चाहिए।

Share This Post

Post Comment