यूनाइटेड नेशन महिला के मिशन में खड़े हुए कोटा वासी

यूनाइटेड नेशन महिला के मिशन में खड़े हुए कोटा वासी

मुंबई, महाराष्ट्र/दीपक बसवालाः अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस की पूर्व संध्या पर सोसाइटी है। इस इंटरनेशनल चैरिटेबल ट्रस्ट और वीमेन वेलफेयर आर्गेनाइजेशन ऑफ वर्ल्ड के द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ के महिला संघ की 2030 तक प्लेनेट 50-50 के जेंडर इक्वलिटी के लिए कदम मिशन के तहत तलाव की पाल पर ‘वी फॉर शी’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि सविता यादव ने बताया की बालिका या कोई भी महिला तब तक सुरक्षित है जब तक पुरुष उसे गलत नजरिये से नहीं देखता इसीलिए सतर्क रहने की ट्रेनिग महिला को देने के साथ-साथ पुरूषों में नैतिक मूल्यों का विकास करना चाहिए। ट्रस्टी निधि प्रजापति ने बताया की यू. एन. महिला का मिशन है कि वर्ष 2030 तक सम्पूर्ण विश्व में मुख्य रूप से उन देशों में जहाँ पर लैंगिक असमानता है वहाँ पर महिला और पुरुषों को बराबर महत्त्व और सम्मान मिले। महिलाओं की हर क्षेत्र में 50 प्रतिशत की भागीदारी रहे। वर्ल्ड विश्व के सातों महाद्वीपों में से एशिया महाद्वीप में सबसे ज्यादा लैंगिक असमानता है, विशेष रूप से साउथ एशियन देशों में। लैंगिक असमानता के क्षेत्र में यमन, पकिस्तान, सीरिया, चाड, ईरान, जॉर्डन, मोरक्को, लेबनान, माली और मिस्त्र पहले से दसवें स्थान पर है यहाँ तक कि ईव टीसिंग शब्द की उत्त्पति भी इन्हीं देशों के देन है। वही आइसलैंड में सबसे कम लैंगिक असमानता है।  लैंगिक असमानता को दूर करने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए ही अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बालिकाओं के प्रति सम्मान की भावना, उनकी रक्षा, उनके आदर-सत्कार बढाने के लिए पुरुषों को शपथ दिलाई गई क्योंकि महिला या बालिका की सुरक्षा के लिए महिला के स्थान पर पुरुष को प्रशिक्षित करने की आवश्यक है। इस अवसर पर बालिकाओं व महिलाओं की रक्षा के लिए सदैव तत्पर रहने के लिए पुरूषों ने सुरक्षा रुपी घर और वृत बनाये साथ ही उपस्थित पुरुषों ने शपथ भी ली की वे अपने परिवार की सभी महिलाओं के साथ भेद-भाव नहीं करेंगे तथा बालिकाओं के विकास के लिए सामान अवसर प्रदान करेंगे। कार्यक्रम में यूनी कल्चर ट्रस्ट ऑफ इंडिया के ट्रस्टी गौरव भटनागर, वीमेन वेलफेयर आर्गेनाइजेशन ऑफ वर्ल्ड की संयोजक सोनी नेहलानी, जिला अध्यक्ष सुमन महेश्वरी, शोभा कँवर, तारा, रेशमा मंसूरी, दीक्षा रोहिरा, प्रियंका प्रजापति, ज्योति भदौरिया, हनी सक्सेना, ज्ञानेद्र सिंह आमेरा, आदि सदस्य उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment