विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को आयुक्त ने लगाई फटकार

विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को आयुक्त ने लगाई फटकार

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबू विकास कार्यों की मण्डलीय समीक्षा में मण्डलायुक्त देवीपाटन मण्डल ने सख्त रूख अपनाया है। आयुक्त सभागार में आयोजित विकास कार्यों की मण्डलीय समीक्षा में आयुक्त ने विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता, लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता तथा कार्यदायी संस्था सीएण्डडीएस के परियोजना प्रबन्धक को जमकर फटकार लगाई है। समीक्षा बैठक में सीडीओ गोण्डा द्वारा मण्डलायुक्त को अवगत कराया गया कि विद्युत विभाग द्वारा धन प्राप्त हो जाने के बावजूद कई वर्ष बाद भी जिले के कई प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विद्युतकीरण नहीं कराया गया है जिससे पीएचसी पर मोमबत्ती के उजाले में प्रसव कराना पड़ रहा है। प्रकरण संज्ञान में आते ही आयुक्त ने अधीक्षण अभियन्ता विद्युत को एक सप्ताह के भीतर ऐसे सभी पीएचसी पर विद्युतकीकरण कराकर रिपोर्ट न देने पर हत्या का प्रयास करने की धारा में मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है। इसी प्रकार निर्माण कार्यों हेतु नोडल विभाग प्रान्तीय खण्ड लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रशासन को गलत और अधूरी सूचनाएं उपलब्ध कराने पर फटकार लगाते हुए अधीक्षण अभियन्ता प्रान्तीय खण्ड लोकनिर्माण विभाग तथा कार्यदायी संस्थाओं के परियोजना प्रबन्धकों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने की चेतावनी दी है। कार्यदायी संस्था सीएण्डडीएस द्वारा मण्डल के जिलों में धन आवंटन के बावजूद माध्यमिक शिक्षा के तहत कालेजों के निर्माण कार्य अनारम्भ रहने और निर्माण की झूठी सूचना देने पर कठोर कार्यवाही की चेतावनी दी है। आयुक्त ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि निर्माण कार्यों की प्रगति रिपोर्ट सभी निर्माण विभागों तथा कार्यदायी संस्थाओं  से शपथपत्र पर लें और झूठी रिपोर्ट देने वाले और मानक का विचलन करने वाले ठेकेदारों के खिलाफ गुण्डा एक्ट और जिलाबदर की कार्यवाई करें तथा दोषी विभागीय अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही हेतु शासन को लिखें। जबकि जनपद गोण्डा के मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संतोष श्रीवास्तव को एक बार फिर मीटिंग में फोन पर बात करने के कारण डांट खानी पड़ी। सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने अधीक्षण अभियन्ता सिचंाई को निर्देश दिए कि नहरों की सफाई कराकर टेल तक पानी पंहुचाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके अलावा मण्डल के सभी आश्रम पद्धति विद्यालयों को सीअीएसई बोर्ड से सम्बद्ध कराने के लिए अतिशीघ्र आवश्यक कार्यवाही कराने के निर्देश उपनिदेशक समाज कल्याण को दिए हैं। स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा में मण्डल के सभी जिलों में स्वीकृत आउटसोर्सिंग स्टाफ की तैनाती सुनिश्चित कराते हुए मिशन में युद्ध स्तर पर तेजी लाए जाने हेतु उपनिदेशक पंचायतीराज को निर्देश दिए हैं। कार्यक्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आगामी 24 व 27 अक्टूबर को विशेष वजन दिवस का अयोजन कर मण्डल के सभी अतिकुपोषित, कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन कराकर बृहद स्तर पर आवश्यक कार्यवाही कराएं। उन्होने निर्देश दिए कि गांवों में ग्राम पंचायत निधि से वजन मशीनों का क्रय समय से करा लें जिससे गांवों में शत-प्रतिशत वजन कार्य कराया जा सके। इसी प्रकार मिशन इन्द्र धनुष कार्यक्रम को और बेहतर ढंग से संचालित कराने के निर्देश एडी हेल्थ को दिए हैं। जननी सुरक्षा योजना के भुगतान में जनपद गोण्डा में सुधार न होने पर आयुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए एक माह की मोहलत दी है और चेतावनी दी है कि अगले माह तक यदि पुराना शत-प्रतिशत भुगतान नहीं कराया गया तो गबन के आरोप में कार्यवाही की जाएगी। इसके अलावा आयुक्त ने प्रधानमंत्री आवास, मनरेगा, बेसिक शिक्षा, निमा्रण कार्य, स्वास्थ्य सेवाओं, लाभार्थीपरक योजनाओं सहित अन्य विभागों की जनपदवार समीक्षा की। बैठक के दौरान डीम गोण्डा जेबी सिंह, डीएम बहराइच अजयदीप सिंह, डीएम श्रावस्ती दीपक मीणा, डीएम बलरामपुर राकेश मिश्र, संयुक्त विकास आयुक्त देवीपाटन मण्डल हीरालाल, सीडीओ गोण्डा दिव्या मित्तल, सीडीओ बलरामपुर, सीडीओ श्रावस्ती, सीडीओ बलरामपुर, एडी हेल्थ, उपनिदेशक पंचायतीराज, उपनिदेशक समाज कल्याण, एडी बेसिक, एडी माध्यमिक, उपश्रमायुक्त देवीपाटन मण्डल शमीम अख्तर अंसारी तथा अन्य मण्डलीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment