पाली में एक ही रात में दो बार108 में गुंजी बेटी की किलकारी

WhatsApp Image 2017-10-09 at 12.40.57 PM

पाली, राजस्थान/महेन्द्र कुमारः प्रदेश में एक आईएएस अधिकारी नवीन जैन बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को सार्थक करने के लिए जिले जिले में सेमीनार आयोजित कर बेटी बचाओ का व्याख्यान कर बेटियो के लिए शपथ तक दिलवा रहे है, राजस्थान सरकार के इस अभियान और अधिकारियो के प्रयास के सार्थक परिणाम भी मिले है और जन्म मृत्यु आकड़ो के अनुसार देश प्रदेश में जन्म लेने वाली बेटियो का ग्राफ बढ़ा है। आज हम बात कर रहे है पाली जिले का पाली में आज चिकित्सा विभाग की अहम सेवा 108 यह 108 सुचना मिलते ही 2 बार गर्भवती पेसेंट को लेने गई और दोनों ही गर्भवती के प्रसव पीड़ा तेज होने से दोनों ही महिलाओ का 108 में सुरक्षित प्रसव हुआ और दोनों ने बेटी को जन्म दिया। पहले केस में खुंडावास से धापू देवी को 108 में लेकर बांगड़ हॉस्पिटल आ रहे थे की रास्ते मे प्रशव पीड़ा सुरु /तेज हो गई तो 108 के ईएमटी नरेन्द्र कीर ने गाड़ी रोकने का बोला और जांच की एवम पायलट वीरेन्द्र कुमार की सहायता से सुरक्षित डिलीवरी करवाई जिसमे बेटी ने जन्म लिया एवम जच्चा बच्चा दोनो को सुरक्षित बांगड़ हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। उसके बाद ही बुधवाड़ा से एक डिलीवरी के लिए फोन आया उसे लेने गए, जिसमे भीकी देवी को एम्बुलेंस 108 में लेकर बांगड़ हॉस्पिटल आ रहे थे कि उसे भी रास्ते मे ही तेज प्रशव पीड़ा सुरु हो गई जिसमें पायलट वीरेन्द्र कुमार में साइड में गाड़ी रोक कर ई एमटीकीर ने पायलट वीरेन्द्र कुमार की सहायता से सुरक्षित डिलीवरी प्रसव करवाया जिसमे फिर से बेटी ने जन्म लिया और उसके बाद दोनों जच्चा बच्चा को सुरक्षित बागड़ हॉस्पिटल में भर्ती करवाया दोनो के परिजनों ने 108 स्टाफ का आभार जताया एवम कार्य की प्रशंसा की।

अधिकारियो ने ली जानकारी
सूत्रो से मिल रही जानकारी के अनुसार जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने 108 में हुए प्रसव की जानकारी ली और जन्म लेने वाली बेटियो को सभी सरकारी लाभ देने के निर्देश दिए जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेन्द्र सिंह शेखावत से आमजन से अपील करते हुए कहा की राजकीय चिकित्सालयों में मुफ़्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है और 108 और 104 की सुविधा 24 घण्टे कार्य करती है तो प्रसव जेसे मामलो में सजर्ग रहकर समय से पूर्व चिकित्सको की राय लेने की भी अपील की।

Share This Post

Post Comment