कैप्टन अमरिदंर को नीचा दिखाने की कोशिश में लगे है सिद्धू: मन्ना

कैप्टन अमरिदंर को नीचा दिखाने की कोशिश में लगे है सिद्धू: मन्ना

अमृतसर, पंजाब/मनदीप सिंह मन्नाः पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव व प्रवक्ता मनदीप सिहं मन्ना ने कहा कि भाजपा छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हो स्थानीय निकाय विभाग के मंत्री पद की मौज लूट रहे नवजोत सिंह सिद्धू एक सुनियोजित राजनीतिक साजिश के तहत पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को हमेशा नीचा दिखाने की कोशिश में रहते है। यही करण है कि प्रत्येक 15—20 दिनों के बाद सिद्धू ब्यान देते है कि अगर कैप्टन उनको दो दिन के लिए पुलिस विभाग की कमांड सौंपा दे तो वे राज्य में सभी अपराधियों और तस्करों को गिरफ्तार करके राज्य को अपराध मुक्त कर देंगे। सिद्धू को परखने के लिए मुख्यमंत्री को चाहिए कि सिद्धू को एक सप्ताह के लिए पुलिस विभाग की कमांड दे देनी चाहिए। अगर सिद्धू अपराध खत्म करने में नाकाम रहता है तो सिद्धू को पद से त्यागपत्र दे देना चाहिए और लोगों को गुमराह करने के लिए सिद्धू का अंदर कर देना चाहिए। मन्ना बुधवार को सिद्धू की ओर से पंजाब यूनिवर्सिटी चडीगढ़ में स्टूडेंट्स वेल्फेयर सोसायटी की ओर से आयोजित कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते हुए एक बार फिर कहा है कि अगर उनको दो दिन पुलिस विभाग दे दिया जाए तो वे राज्य से अपराध खत्म कर देंगे। मन्ना ने कहा कि सिद्धू इस तरह के ब्यान एक सुनियोजित राजनीति के तहत दे कर पंजाब के लोगों के समक्ष यह साबित करना चाहते है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब में अपराधियों के खिलाफ कुछ नहीं कर रहे है। सिर्फ सिद्धू ही अपराध राज्य में से खत्म कर सकते है। उन्होंने कहा कि इस तरह का ब्यान सिद्धू ने पहले भी बाबा बकाला में आयोजित रैली में दी थी अब यूनिवर्सिटी के छात्रों के समक्ष भी यही ब्यान दिया है। इस संबंध में जब अमृतसर में मीडिया कर्मियों ने इस विषय पर सिद्धू से कैप्टन के समक्ष प्रश्न पूछा था तो सिद्धू रैली में दिए ब्यान से भी भाग गए थे। मन्ना ने कहा कि सिद्धू ने यह ब्यान उस वक्त दिया है जब गुरदासपुर में कांग्रेस चुनावी जंग लड़ रही है और सिद्धू कांग्रेसी विद्याकों का मनोबल गिराने के लिए पार्टी और कैप्टन विरोधी ब्यान देकर कांग्रेस को गुरदासपुर लोक सभा उप चुनावों में नुकसान पहुचाना चाहता है। मन्ना ने कहा कि सिद्धू एक बार गुरदासपुर गए परंतु कांग्रेस की मुख्य विरोधी पार्टी भाजपा की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोला। जो साबित करता है कि सिद्धू के अंदर से भाजपा और मोदी की भक्ति खत्म नही हुई है।

Share This Post

Post Comment