राजस्थान के तीन हजयात्रियों का इन्तिकाल, मक्का में किया गया सुपुर्द-ए-खाक, अल्लाह मगफिरत करे

सीकर, राजस्थान/महबूब आलमः हज के मुकद्स सफर पर गए राजस्थान के तीन हज यात्रियों का मक्का में निधन हो गया है। उन्हें वहीं पर सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया है. परिजनों के मुताबिक तीनों ने हज के सारे अरकान पूरे कर लिए थे। इसके बाद मक्का में ही उनका निधन हो गया। जिनमें सीकर के दो और नागौर जिले का एक हज यात्री शामिल है। हज ट्रेनर अब्दुल रसीद खोखर के अनुसार सीकर शहर के वार्ड संख्या 29 के मोहम्मद अब्दुल गनी अपनी पत्नी रशीदा बानो सहित परिवार के तीन लोगों के साथ हज करने गए थे। अस्थमा होने के कारण पहले तो उन्हे मक्का स्थित डिस्पेंसरी में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। ताखलसर निवासी बुलकेश बानो भी अपने पति हसन मोहम्मद के साथ हज पर गईं थी। वहां दिल का दौरा पडऩे से उनकी मौत हो गई। इधर नागौर के रहने वाले जहुरूद्दीन भी परिजनों के साथ 31 अगस्त की फ्लाइट से हज के लिए मक्का पहुंचे थे। उनका भी निधन हो जाने पर वहीं सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। हज ट्रेनर मोहम्मद अफसीन कांसली ने बताया कि मक्का की मिट्टी नसीब होना किस्मत की बात है. अभी तीनों के परिजन भी मक्का में ही हैं। प्रदेश से हज पर गए यात्रियों की वापसी 25 सितंबर से शुरू होगी। वहां से आने वाली पहली फ्लाइट में इनके परिजन भी जयपुर पहुंचेंगे। बता दें कि 2017 की हज यात्रा में शामिल होने प्रदेश के करीब चार हजार यात्री मक्का गए हुए हैं। जिनमें अकेले सीकर जिले के करीब डेढ़ सौ हज यात्री शामिल हैं।

Share This Post

Post Comment