नागपुर पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद, डॉ. अंबेडकर को दी श्रद्धांजलि

नागपुर, महाराष्ट्र/नगर संवाददाताः राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आज नागपुर स्थित दीक्षाभूमि में डॉक्टर बी आर अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की। संविधान निर्माता डॉ. अम्बेडकर ने यहीं बौद्धधर्म की दीक्षा ली थी। राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद यह कोविंद का पहला महाराष्ट्र दौरा है। उनके साथ महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी तथा रामदास अठावले भी मौजूद थे। राष्ट्रपति ने इंटरनेशनल ड्रैगन पैलेस, नागपुर में विपस्यना ध्यान केंद्र का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘महाराष्ट्र अध्यात्म की पावन धरती है। महाराष्ट्र में हुए समाज सुधार के आंदोलनों ने 19वीं, 20वीं सदी के दौरान भारत के अन्य क्षेत्रों के लिए उदाहरण प्रस्तुत किया। हमारे संविधान की रचना करके बाबा साहेब अंबेडकर ने बुद्ध के समय की लोकतान्त्रिक परंपरा की फिर से प्रतिष्ठा की।’ राष्ट्रपति ने आगे कहा, ‘योग की तरह विपस्सना को भी किसी धर्म विशेष से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। यह पूरी मानवता के कल्याण के लिए है। असुरक्षा और उथल-पुथल से भरे आज के माहौल में गौतम बुद्ध का अहिंसा, प्रेम और करुणा का सन्देश अत्यधिक प्रासंगिक है।’

Share This Post

Post Comment