पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों के खिलाफ कांग्रेस ने उठाया सबसे बड़ा कदम, मोदी सरकार के उड़े होश

मुंबई, महाराष्ट्र/राजू सोनीः देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है, जिससे आम जनता का बुरा हाल है। इन दिनों पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर हर कोई सरकार पर हमला बोल रहा है। वो इसलिए क्योंकि अंतराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल-डीजल के दाम बहुत कम हैं, फिर भी सरकार दाम कम नहीं कर रही है। अब इसके खिलाफ काग्रेस एक बड़ा कदम उठाने जा रही है। दिल्ली कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान शुरू किया। प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने जाकिर हुसैन कॉलेज के पास के एक पेट्रोल पंप से बढ़ी कीमतों के खिलाफ 10 लाख हस्ताक्षर इकट्ठा करने के तीन दिनी अभियान की शुरुआत की। इन हस्ताक्षरों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सौंपा जाएगा। कांग्रेस की दिल्ली सरकार से मांग है कि उत्पाद शुल्क और वैट कम करके पेट्रोल 34 रुपए और डीजल 32 रुपए प्रति लीटर की दर से लोगों को उपलब्ध कराया जाए। हस्ताक्षर अभियान में प्रदेश कांग्रेस की ओर से एक फार्म जारी किया गया है जिसमें सामान्य लोगों से कहा गया है कि अगर आप चाहते हैं कि पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क और वैट दरें खत्म करके दिल्ली में पेट्रोल 34 रुपए व डीजल 32 रुपए में मिले तो हस्ताक्षर करें। कार्यकर्ताओं व पेट्रोल पंपों पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए अजय माकन ने कहा कि अगर पेट्रोल व डीजल से मोदी और केजरीवाल कर हटा दिया जाए तो राजधानी के लोगों को पेट्रोल 34 रुपए और डीजल 32 रुपए प्रतिलीटर मिलेगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने तीन साल में पेट्रोल पर 133 फीसद और डीजल पर 400 फीसद उत्पाद शुल्क बढ़ाया है। वहीं, पे‍ट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखते हुए पेट्रोलियम पदार्थों को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने के लिए वित्त मंत्रालय से अपील की है। अपने कदम पर सही ठहराते हुए प्रधान ने कहा कि पूरे देश में एकसमान कर व्यवस्था होनी चाहिए। प्रधान ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाना पेट्रोलियम मंत्रालय का प्रस्ताव है। हमने राज्य सरकारों और वित्त मंत्रालय से पेट्रोलियम वस्तुओं को जीएसटी के दायरे में लाने की अपील की है। उपभोक्ताओं के हितों को देखते हुये करों को युक्तिसंगत रखने की जरुरत है।

Share This Post

Post Comment