लखीमपुर में ढाई साल के बच्चे के साथ मां ने लगाई फांसी

लखीमपुर, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत गांव देवीपुरवा में रविवार दोपहर में एक महिला ने पहले अपने ढाई साल के बच्चे को साड़ी के फंदे से लटकाया फिर खुद भी फांसी लगा ली। घटना के समय उसका पूरा परिवार खेतों में मेंथा काटने गया था। मामले में महिला के भाई ने दहेज हत्या का आरोप लगाया है। देवीपुरवा गांव निवासी रामधीन लोध की पत्नी सुधा (22) ने घर के टीन शेड वाले कमरे में रविवार दोपहर करीब 12.30 बजे पहले अपने ढाई साल के बच्चे विकास के गले में साड़ी का फंदा बनाकर कड़ी से लटका दिया और फिर दूसरी साड़ी के फंदे से खुद फांसी लगाकर जान दे दी। एक बजे खेत से लौटी उसकी जेठानी ने जब दोनों के शवों को कमरे में फांसी पर लटके हुए देखा तो सूचना खेतों में काम कर रहे ससुर अशर्फी लाल और अपने पति को दी। इसके बाद परिवार के सभी सदस्य घर पहुंचे और सुधा के मायके में सूचना दी। सुधा के भाई राजकुमार ने उसके पति पर प्रताड़ना व दहेज हत्या का आरोप लगाया है। राजकुमार के मुताबिक सुधा का पति रामधीन आवारागर्दी करता था। ज्यादातर वह घर से बाहर रहता था। घर में राशन है या नहीं, इसकी भी उसे फिक्र न थी। जब सुधा उससे कुछ मांगती तो वह उसे मारता पीटता था। गुरुवार को रामधीन ने सुधा को मारा-पीटा था और घर से निकालने की धमकी दी थी। जब राजकुमार ने आकर मना किया तो रामधीन ने उस पर भी हाथ उठाया था और सुधा को तलाक देने की धमकी भी दी थी। कोतवाल बृजेश त्रिपाठी ने बताया कि अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है, तहरीर के हिसाब से मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Share This Post

Post Comment