पेट्रोल-डीजल की महंगाई के खिलाफ देश भर में आंदोलन करेगी कांग्रेस

पेट्रोल-डीजल की महंगाई के खिलाफ देश भर में आंदोलन करेगी कांग्रेस

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल के साथ खाद्यान्न महंगाई के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया है। पार्टी ने कहा है कि एनडीए सरका पेट्रोल-डीजल पर मनमाने टैक्स लगाकर जनता को लूट रही है। विश्व बाजार में पेट्रोल-डीजल की कीमत पिछले तीन साल में पचास फीसद से अधिक घटने के बावजूद भारत में इनकी लगातार बढ़ रही महंगाई पर पार्टी ने सरकार से श्वेत पत्र लाने की भी मांग की है। पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में भारी इजाफे और महंगाई के खिलाफ कांग्रेस अपने राष्ट्रव्यापी आंदोलन की शुरुआत 20 सितंबर से करेगी। इस क्रम में पार्टी सड़कों पर उतरकर विरोध-प्रदर्शन के साथ पेट्रोल पंपों पर खड़े होकर महंगाई के खिलाफ जनता के हस्ताक्षर भी जुटाएगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने पार्टी की प्रेस कांफ्रेंस में इसका एलान करते हुए कहा कि केंद्रीय उत्पाद शुल्क को बेतहाशा बढ़ाकर सरकार जनता की जेब लूट अपनी तिजोरी भर रही है। उनका कहना था कि जनता की गाढ़ी कमाई से सरकार के लाभ कमाने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 100 रुपए के पेट्रोल में 51.78 रुपए टैक्स का हिस्सा है तो इतने के ही डीजल में 44.70 रुपए टैक्स हैं। माकन ने कहा कि 20 सितंबर को राजधानी में महंगाई के खिलाफ आंदोलन शुरू से पहले 17 तारीख से पेट्रोल पंपों पर पार्टी लोगों के हस्ताक्षर जुटाएगी। इसके बाद दूसरे राज्यों में प्रदेश इकाईयां आंदोलन को आगे बढ़ाएंगी जिसमें कांग्रेस के केंद्रीय नेता भी शरीक होंगे। कांग्रेस नेता ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थो की महंगाई के खिलाफ वैश्विक परिस्थितियों का सरकार बहाना दे रही है। मगर हकीकत यह है कि पिछले साढे तीन साल में एनडीए सरकार ने उत्पाद शुल्क में 11 बार इजाफा किया है। इस दौरान सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज डियूटी में 133 से अधिक और डीजल पर 400 फीसद से अधिक का इजाफा किया है। माकन ने कहा कि सरकार ने यह तब किया है जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में प्रति बैरल 52 फीसद से अधिक की गिरावट आयी है। उन्होंने दावा किया कि 2016-17 के दौरान केंद्र-राज्यों ने 5.24 लाख करोड़ पेट्रोल-डीजल पर टैक्स के रुप में हासिल किया। केंद्र से पेट्रो उत्पादों पर लगाए गए भारी टैक्स में कटौती की मांग करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि विकास के नाम पर सत्ता में आयी मौजूदा सरकार जनता को महंगाई के बोझ से मार रही है।

Share This Post

Post Comment