सिमरिया गंगा तट पर अगले माह 6 अक्टूबर से 16 नवंबर तक महाकुंभ मेला

बेगूसराय, बिहार/दीपक कुमारः बेगूसराय में विश्व के सुप्रसिद्ध कल्पवास मेला के साथ-साथ इस वर्ष 2017 में जिला के पवित्र सिमरिया गंगा तट पर अगले माह 6 अक्टूबर से 16 नवंबर तक महाकुंभ मेला रहेगा। इस मेला के दौरान गंगा शाही स्नान करने के लिए पवित्र गंगा तट पर लाखां की संख्या में श्रद्धालु भक्तों के पहुंचने की पूरी संभावना है। महाकुंभ मेला लगने में अब मात्र 20 दिन ही शेष समय बच गए हैं। दिव्य शक्ति पीठ सिद्धाश्रम मां काली धाम के परम पूज्य गुरुदेव संत शिरोमणि करपात्री अग्निहोत्री परमहंस स्वामी चिदात्मन जी महाराज बताते हैं कि इसके पूर्व में अर्द्धकुंभ मेला में लगभग 80 लाख से ऊपर लोग गंगा स्नान करने के लिए यहाँ पर आये थे। इस बार उसके चार गुना भक्त-श्रद्धालुओं के सिमरिया गंगा तट पर पहुंचने की पूरी संभावना है। इस बार प्रथम शाही स्नान दीपावली के दिन ही 19 अक्टूबर गुरुवार के दिन है। दूसरा शाही स्नान अक्षय नवमी के दिन 29 अक्टूबर रविवार के दिन है और तीसरा शाही स्नान 8 नवंबर को है। इस महाकुंभ और कल्पवास मेला के दौरान प्रथम कुंभ क्षेत्र का वृहत परिक्रमा परमहंस स्वामी चिदित्मन जी महाराज के अलावे हजारों भक्त श्रद्धालुगण 17 अक्टूबर मंगलवार के दिन करेंगे. वहीं द्वितीय वृहत परिक्रमा 25 अक्टूबर बुधवार दिन तथा तीसरा परिक्रमा महाकुंभ क्षेत्र का 1 नवंबर 2017 को बुधवार दिन करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि एक अक्टूबर से ही साधु-संत के साथ-साथ पूरे देश भर से कुंभ मेला में श्रद्धालु पहुंचना शुरू कर देंगे। इतने कम समय के अंदर जिला प्रशासन को सिमरिया गंगा तट पर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के लिए सुलभ शौचालय, पेयजल, प्रकाश, साफ-सफाई के साथ साथ स्नान घाट को पूरे समतल बनाकर तैयार करना पड़ेगा। इस मेला के पूर्व डीएम मोहम्मद नौशाद यूसुफ ने अपने सारे आला अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी विभाग के अधिकारी को मेला लगने के पूर्व सारी व्यवस्था को सुदृढ़ करने का आवश्यक निर्देश दे चुके हैं। डीएम का निर्देश मिलते ही सदर एसडीएम जनार्दन कुमार, बरौनी बीडीओ, सीओ, जिले के पीएचईडी विभाग समेत अन्य विभाग के पदाधिकारी पूरे विधि व्यवस्था में जुट गए हैं। वही इस महाकुंभ मेला को सफल बनाने के लिए जिले के कई जनप्रतिनिधि भी दिन-रात लगे हुए हैं. अखिल भारतीय सर्वमंगला गंगा पर्यावरण प्रदूषण मुक्ति मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविंद्र जी ब्रह्मचारी ने बताया कि इस बार महाकुंभ मेला में लाखों की संख्या में साधु संत के साथ श्रद्धालु शाही स्नान करने के लिए पवित्र गंगा तट पर पहुंचेंगे। उनके लिए जिला प्रशासन के सभी अधिकारीगण दिन रात सिमरिया गंगा तट पर युद्ध स्तर पर मेला की व्यवस्था में जुट गए हैं।

Share This Post

Post Comment