बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प के सराईकेला खरसावां जिले की पहली बैठक

पश्चिम सिंघभूम, झारखंड/गोपाल निषादः बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प के सराईकेला खरसावां जिले की पहली बैठक मंगलवार को सराईकेला के सर्किट हाउस में आयोजित की गई। इस बैठक में कोल्हान की बेटी बचाओ की संयोजिका गीता बालमुचू, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवम सराईकेला खरसावां जिला के प्रभारी अशोक विजयवर्गीय, जिले के संयोजक गणेश महाली, सह संयोजक सुनील श्रीवास्तव, सह संयोजिका श्रीमती चरणजीत कौर, जिलाध्यक्ष उदय सिंहदेव के अलावा जिले के सदस्य और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन करते हुए गणेश महाली ने कहा कि बेटे भाग्य से होते है लेकिन बेटियां भाग्यशाली लोगो के यहां होती है। उन्होंने कहाँ की सरकार लड़कियों और महिलाओं के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही है उसका लाभ लेना चाहिए। गीता बालमुचू ने अपने संबोधन में कहा कि बेटियां अभिशाप नही बल्कि वरदान है। उन्होंने सरकार की कई योजनाओं का भी जिक्र किया उन्होंने डायन प्रथा को भी जड़ से मिटाने की बात कही। अशोक विजयवर्गीय ने अपने संबोधन में महिलाओ को अपने अधिकार की लड़ाई लड़ने की बात कही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का यह प्रकल्प ड्रीम प्रोजेक्ट है खुद प्रधानमंत्री इसकी निगरानी कर रहे है हमे भ्रूण हत्या पर रोक लगनी होगी। इसके लिए सभी सदस्य हॉस्पिटल की निगरानी करे, स्कूलों में जाये और देखे की लड़कियों की संख्या कम क्यो है और लड़कियों के परिवार में जाकर बेटियो को स्कूल जाने के लिए प्रोत्साहित करें। अंत में जिलाध्यक्ष ने भी बैठक को संबोधित किया और कहा कि हमे इस जिला को पूरे झारखंड में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अभियान के तहत सबसे ऊपर ले कर जाना है। अंत में धन्यवाद ज्ञापन जिला सदस्य रश्मि साहू दिया।

Share This Post

Post Comment