नायक कर्नल संतोष महाडिक की विधवा स्वाति महाडिक भारतीय सेना में शामिल हुई

नायक कर्नल संतोष महाडिक की विधवा स्वाति महाडिक भारतीय सेना में शामिल हुई

कोल्हापुर, महाराष्ट्र/संगप्पाः जम्मू-कश्मीर के उरी में पिछले साल हुए आतंकी हमले में महाराष्ट्र के सातारा जिले के शहीद कर्नल संतोष महाडिक की पत्नी स्वाति महाडिक लेफ्टिनेंट बन गईं हैं। उन्होंने चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग अकादमी में रहते हुए एक साल की कठिन ट्रेनिंग को पासिंग आउट परेड के साथ पूरा किया है। इस मौके पर स्वाति महाडिक ने कहा कि सेना की वर्दी मेरे पति का पहला प्यार थी, इसलिए मुझे एक दिन तो इसे पहनना ही था। मैं भी पति की तरह आतंकियों के खिलाफ लड़ना चाहती हूं। बता दें कि, स्वाति ने अपने पति की शहादत पर सेना में शामिल होने की इच्छा जताई थी। जिसके बाद रक्षा मंत्रालय द्वारा इस मामले को मंजूरी दी गई थी। इसके लिए स्वाति ने सेना से नौकरी नहीं मांगी, बल्कि उन्होंने पढ़ाई करके एसएसबी की परीक्षा पास की, उसके बाद सभी पांच राउंड क्लियर किए। लेकिन स्वाति की उम्र उनके इरादों में बाधा बन रही थी। जिसे देखते हुए पूर्व रक्षामंत्री मनोहर परिकर ने दलबीर सिंह से स्वाति को सेवा चयन बोर्ड (एसएसबी) की परीक्षा में आयु सीमा में छूट देने की सिफारिश की थी। बता दें कि एसएसबी की परीक्षा देने की उम्र 27 साल होती है, जबकि स्वाति की उम्र 37 साल थी। स्वाति महाडिक ने अपनी 12 साल की बेटी और 6 साल का बेटे को बोर्डिंग स्कूल में भेज दिया है। गौरतलब है कि पिछले साल 17 नवंबर को कर्नल महादिक और उनके साथियों पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। हमले में शहीद हुए महादिक को गणतंत्र दिवस के मौके पर शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। 39 वर्षीय कर्नल महाडिक महाराष्ट्र के सतारा के रहने वाले थे। वह 41 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग अफसर थे।

Share This Post

Post Comment