अन्ना की चिट्ठी का स्वराज इंडिया ने किया समर्थन, केंद्र सरकार को बताया विफल

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः नवगठित राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया ने अन्ना हजारे द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखी चिट्ठी का समर्थन किया है। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने अन्ना हजारे की मांगों का समर्थन करते हुए कहा कि देश का किसान आज बदहाल है, खुदकशी करने को मजबूर हो रहा है लेकिन सरकार पर इसका कोई असर नहीं हो रहा। प्रधानमंत्री फसल के ड्योढ़े दाम का वादा कर सत्ता में आए, लेकिन किसानों को आज भी उनके फसल की कीमत नहीं मिल रही है, और तो और कर्ज के बोझ में दबा हुआ किसान जब अपनी आवाज उठाने को विवश होता है तो उसपर गोली चलाई जाती है, जैसा कि मंदसौर में हुआ। स्वराज अभियान के अध्यक्ष प्रशांत भूषण ने कहा कि लोकपाल आंदोलन के कंधे पर बैठकर सत्ता तक पहुंचे प्रधानमंत्री बनने के तीन साल बाद भी लोकपाल या लोकायुक्त नियुक्त नहीं कर पाए हैं। भ्रष्टाचार से लड़ने की सरकार की इच्छाशक्ति पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि लोकपाल से लेकर सीबीआइ, सीवीसी के अलावा भ्रष्टाचार निरोधक कानून, व्हिसल ब्लोवर कानून, पार्टियों में आरटीआइ या राजनीतिक चंदे की बात हो, हर मोर्चे पर केंद्र सरकार विफल रही है।

Share This Post

Post Comment