जल ही जीवन है और विज्ञान हमारे जीवन का अभिन्य अंग-मण्डलायुक्त

जल ही जीवन है और विज्ञान हमारे जीवन का अभिन्य अंग-मण्डलायुक्त

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबू : स्वच्छ पेयजल गुणवत्ता, परीक्षण, उपयोग और सुरक्षित भण्डारण कार्यक्रम में आयुक्त ने दिया जल संचयन का संदेश जल ही जीवन है और विज्ञान हमारे जीवन का अभिन्य अंग है। इसलिए जल संचयन अत्यन्त आवश्यक है तथा इसके लिए वैज्ञानिक सहयोग भी लिया जाना चाहिए। आज के दौर में अधिकतम बीमारियां दूषित जल के कारण ही होती हैं इसलिए शुद्धपेय जल का उपयोग करना जरूरी हो गया है। शुद्ध जल हमें तभी मिलेगा जब हम पेयजल का संचयन करेगें और अपनी जिम्मेदारी समझेंगें। यह विचार देवीपाटन मण्डल के आयुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव ने जीआईसी इन्टर कालेज में जिला विज्ञान क्लब द्वारा आयोजित स्वच्छ पेयजल गुणवत्ता, परीक्षण, उपयोग और सुरक्षित भण्डारण तथा जल श्रोतों के संरक्षण पर वैज्ञानिक व्याख्यान व प्रदर्शन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में व्यक्त किए। कार्यक्रम में जिले के बीस इन्टर कालेज से पधारे प्रतिभागी छात्र-छात्राओं का हौसला बढ़ाते हुए मण्लायुक्त ने कहा कि उन सबकी यह उम्र मेहनत करने और सही निर्णय लेते हुए लक्ष्य निर्धारित कर उसके लिए पूरी लगन के साथ काम करने की है। वे सब बडे सपने देखें और उन्हें हासिल करने के जी-जान लगा दें और बुलन्दियां हासलि करके रहें। जल संचयन के बारे में उन्होने आहवान करते हुए कहा कि देवीपाटन मण्डल में वाटर लेबल तो काफी ऊपर है परन्तु यहां के जल में आर्सेनिक मात्रा अधिक होने के कारण जल जनित तमाम बीमारियों से लोगों को परेशान होना पड़ता है। उन्होने कहा कि मण्डल के ऐसे चिन्हांकित गांवों में जल निगम व विश्व बैंक के सहयोग से पाइप्ड पेयजल योजनाएं संचालित कर पेयजल मुहैया कराने का काम चल रहा है। उन्होने कहा कि घटता वाटर लेबल और दिनों-दिन भूगर्भ जल के दूषित होने का स्तर बढ़ता ही जा रहा है जो कि चिन्ता का विषय है। उन्होने कहा कि शुद्ध पेयजल के प्रति बरसात के दिनों में विशेष एहतियात बरतने की जरूरत होती है। कार्यक्रम के दौरान जिला विज्ञान क्लब की अध्यक्ष डा0 रेखा शर्मा ने मण्डलायुक्त का स्वागत करते हुए कहा कि जिला विज्ञान क्लब गोण्डा द्वारा तमाम उपलब्धियां हासिल की गई हैं। कई लाख छात्र-छात्राएं आज विश्व के अनेक देशों में बतौर बाल वैज्ञानिक काम कर रहें हैं, यह जिले के लिए गौरव की बात है। क्लब की अध्यक्ष ने बताया कि कार्यक्रम में जिले के बीस इन्टर कालेज के छात्र-छात्राओं द्वारा जलज संचयन सम्बन्धी पोस्टर, निबन्ध और भाषण प्रतियोगिताएं आयोजित कराई गईं जिसमें विजेता प्रतिभागी बच्चों को कार्यक्रम के दौरान मण्डलायुक्त व अन्य अधिकारियों द्वारा प्रशस्ति पत्र व मेडल देकर सम्मानित किया गया। कालेज कैम्पस में विभिन्न विद्यायलों द्वारा जल संचयन एवं शुद्धीकरण सम्बन्धी विभिन्न नवाचारों के स्टॅाल लगाए। सहायक निदेशक सूचना द्वारा समस्त स्टालों का निरीक्षण कर विजेता घोषित किए गए। नवाचार करने वाले प्रतिभागी बच्चों को भी मेडेल व प्रशस्ति देकर सम्मािनत किया गया। कार्यक्रम के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक राम खेलावन व एडी बेसिक एम0पी0 सिंह, माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह, जीआईसी प्रिन्सपल ए0के0 तिवारी, राम नगीना यादव, जल निगम के रिसोर्स परसन व जिले के विभिन्न कालेजों के प्रतिभागी छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment