डेरा प्रमुख को आज सुनाई जाएगी सजा, पंजाब-हरियाणा में इंटरनेट बंद, अलर्ट

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः सोमवार को रोहतक में सीबीआइ की विशेष अदालत डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में सजा सुनाएगी। यह पहली बार होगा जब हरियाणा के किसी जेल परिसर में अदालत लगाकर सजा सुनाई जाएगी। सजा के एलान से पहले हरियाणा के साथ पंजाब भी हाई अलर्ट पर है। सोमवार को हरियाणा में सभी निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। वहीं सिरसा के अलावा अन्य सभी जगहों से कर्फ्यू हटा दिया गया है। एतिहातन पंजाब और हरियाणा में मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद रखने का फैसला किया गया है। यह रोक मंगलवार सुबह 11.30 बजे तक जारी रहेगी। डेरा सच्चा सौदा सिरसा मुख्यालय में भी इंटरनेट की सभी लीज लाइनें बंद कर दी गई हैं। अदालत ने दोषी करार देने का फैसला भी दोपहर बाद ढाई बजे ही सुनाया था। सजा का एलान भी सोमवार को दोपहर ढाई बजे के बाद होगा। डेरा प्रमुख पर लगी तीन धाराओं में प्रमुख धारा दुष्कर्म की है। इसमें न्यूनतम सात साल की सजा और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा है। सीबीआइ के विशेष जज जगदीप सिंह हेलीकॉप्टर में पंचकूला से रोहतक में स्थित सुनारिया जेल पहुंचेंगे, जहां विशेष अदालत लगाई जानी है।
हाई कोर्ट में ही की जा सकेगी अपील : त न साल से कम सजा होने पर सीबीआइ जज को जमानत पर छोडऩे का अधिकार है। इससे अधिक सजा की स्थिति में ऑर्डर मिलते ही दोषी जमानत के लिए हाई कोर्ट में आवेदन कर सकता है। चूंकि दुष्कर्म में न्यूनतम सात साल की सजा निर्धारित है, इसलिए राम रहीम के पास जमानत के लिए हाई कोर्ट में अपील करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं। हाई कोर्ट के फैसले तक उसे जेल में ही रहना होगा।

उपद्रव किया तो गोली मारने के आदेश: पंचकूला में हुई आगजनी से सबक लेते हुए रोहतक में पुलिस और सुरक्षा बलों को मौके पर ही तुरंत एक्शन लेने की छूट रहेगी। मोर्चा संभाले जवानों को संदिग्ध गतिविधि पर असामाजिक तत्वों को गोली मारने के निर्देश दिए गए हैं। सुबह से ही पूरा रोहतक और सिरसा सेना की निगरानी में रहेगा। पूरे जेल परिसर की सुरक्षा कड़ी करते हुए रोहतक में अर्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात की गई हैं। सेना स्टैंड बाई पर रहेगी, जबकि पूरे जोन के अलावा प्रदेश के दूसरे स्थानों से बुलाए गए पुलिस अधिकारी और जवान भी मोर्चा संभाले रहेंगे।

अब तक 38 की मौत:  डेरा प्रेमियों के उपद्रव में मरने वालों की संख्या 38 तक पहुंच गई है। शुक्रवार को भड़की हिंसा में जहां पंचकूला में कुल 32 लोगों की मौत हुई, वहीं सिरसा में छह डेरा समर्थक मारे गए।

हरियाणा ने पंजाब को नहीं दिया कोई इनपुट: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंचकूला में हुई हिंसा पर कहा है कि इस मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री से उनकी कोई बात नहीं हुई है। इसको लेकर हरियाणा ने पंजाब सरकार को कभी कोई इनपुट उपलब्ध नहीं कराया। बता दें कि पंचकूला की ङ्क्षहसा में पंजाब के 11 लोगों की मौत हुई है।

रोहतक। गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार मामले में आज रोहतक की सुनारिया जेल में सजा सुनाई जाएगी। आज दोपहर 2.30 बजे से सज़ा पर बहस होगी और उसके बाद होगा सज़ा का एलान होगा। सजा सुनाने के लिए सीबीआई के विशेष जज को हवाई मार्ग से यहां लाया जाएगा और रोहतक जिला जेल के चारों ओर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। सजा के एलान से पहले पुलिस कोई कसर नहीं छोड़ रही है, साथ ही डेरा के अहम पदाधिकारियों को एहतियातन हिरासत में ले लिया है। इन लोगों पर अनुयायियों को इकट्ठा कर लेने की आशंका है। सुनारिया जेल रोहतक शहर के बाहरी क्षेत्र में स्थित है और जेल परिसर की ओर जाने वाले रास्ते में कई सुरक्षा अवरोधक लगाए गए हैं। पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान कड़ी निगरानी रख रहे हैं और पूरे रोहतक में कई नाका बनाए गए हैं। हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने कहा है कि रोहतक में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं। अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है, जबकि सेना को स्टैंडबाय पर रखा गया है। रोहतक में पहले से ही धारा 144 लागू है।

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी ठहराये जाने के बाद हरियाणा और पंजाब में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। रोहतक की सुनारिया जेल में सीबीआई अदालत के जज आज 50 वर्षीय राम रहीम के खिलाफ सजा का ऐलान करेंगे। हरियाणा में आज सरकारी और निजी स्कूलों, कॉलेजों और अन्य संस्थानों सहित सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। पंजाब के मालवा के 13 ज़िलों बरनाला, बठिंडा, फतेहगढ़ साहिब, फरीदकोट, फजिल्का, फिरोजपुर, लुधियाना, मानसा, मोगा,मोहाली, मुक्तसर, पटियाला और संगरुर में स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे, बाकी पंजाब में स्कूल कॉलेज खुलेंगे। दिल्ली में सभी स्कूल कॉलेज आज खुलेंगे। गाज़ियाबाद और नोएडा में स्कूल कॉलेज खुले रहेंगे। सरकारी दफ्तरों में कहीं भी छुट्टी नहीं है। अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवायें यहां मंगलवार तक बंद रहेंगी। मोबाइल इंटरनेट और डाटा सेवायें बंद करने के लिए पहले ही अधिसूचना जारी कर दी गई थी। शुक्रवार को अदालत का फैसला आने के बाद 72 घंटे से बंद मोबाइल इंटरनेट सेवाएं मंगलवार तक बंद ही रहेंगी।

Share This Post

Post Comment