13वें उपराष्ट्रपति बने नायडू

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः उपराष्ट्रपति बनने के बाद राज्यसभा के सभापति के तौर पर पीएम मोदी ने वेंकैया नायडू का अभिवादन करते हुए कहा कि वे सदन की बारीकियों से परिचित हैं। सार्वजनिक जीवन में जयप्रकाश नारायण आंदोलन के समय से उन्होंने अपनी पहचान बनाई हैं। मोदी ने कहा कि नायडू ने अपने कार्यक्षेत्र का विस्तार किया है। ये ऐसे सभापति है जिनको सदन की कार्यवाही की पूरी जानकारी है। किसान के बेटे हैं, मुझे उनके साथ काम करने का मौका मिला है। नायडू आजाद भारत में जन्म लेने वाले पहले उपराष्ट्रपति हैं। मोदी ने कहा कि आज देश के सभी बड़े संवैधानिक पदों पर सामान्य परिवारों के लोग हैं, जो कि गर्व की बात है।  पीएम ने कहा कि ग्राम सड़क योजना का तोहफा अगर किसी ने दिया है तो फिर वो वेंकैया जी ने दिया है। इस अवसर पर पीएम ने एक शेर से अपने भाषण को समाप्त किया और कहा कि  अमल करो ऐसे सदन में, जहां से गुजरे तुम्हारी नजरें, उधर से तुम्हें सलाम आए। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम उपराष्ट्रपति से पहले से परिचित हैं। उनसे सदन में लड़ाई और झगड़ा होता रहा है लेकिन सदन के बाहर हमेशा अच्छे माहौल में मुलाकात और बात होती थी। इस सदन में कई ऐसे लोग हैं जो नीचे से ऊपर उठकर के आए हैं।  हर पार्टी, आदमी को यहां पर बोलने की आजादी है। पब्लिक के प्रतिनिधि सीधे संसद या फिर विधानसभा में बोल सकते हैं। यह हमारे संविधान की खूबी है।

Share This Post

Post Comment