सेल्फी लेने के चक्कर में बुझ गए दो घरों के चिराग

रांची, झारखंड/नगर संवाददाताः जोन्हा फॉल में डूबने से रांची के दो युवकों की मौत उस वक्त हो गई, जब उनमें से एक सेल्फी लेने के चक्कर में नदी में जा गिरा। दूसरे युवक ने साथी को बचाने के चक्कर में जान गंवा दी। साथ में मौजूद दो युवतियों ने भी इन्हें बचाने के लिए नदी में छलांग लगाई, लेकिन ग्रामीणों ने इन्हें बचा लिया। मरने वाले दोनों युवक कोकर, रांची के थे और अपने-अपने परिवार में इकलौते पुत्र थे। युवकों की पहचान समीर विश्र्वकर्मा (18 वर्ष, पिता कृष्ण कुमार, कोकर) व दिव्यायन भट्टाचार्य (18 वर्ष, पिता-धनन्य भट्टाचार्य, बैंक कॉलोनी, कोकर) रांची के रूप में हुई है। वहीं, फॉल में बहने से बची दोनों युवतियां अंजली कुमारी (पिता विजय कुकरेती-लोअर व‌र्द्धमान कंपाउंड, लालपुर) व सुदिक्षा चौधरी (पिता-सुदीप चौधरी, कालीबाबू स्ट्रीट कचहरी रोड) शामिल हैं। समीर विश्र्वकर्मा मारवाड़ी कॉलेज में व दिव्यायन सुरेन्द्रनाथ स्कूल में बारहवीं के छात्र थे। बचाई गईं युवतियां अंजली व सुदिक्षा जेवियर कॉलेज में बारहवीं की छात्राएं हैं। घटना गुरुवार दोपहर दो बजे की है। चारों यामाहा बाइक व स्कूटी से जोन्हा फॉल घूमने पहुंचे थे। सभी फॉल देखने नीचे उतर गए। घूमने पहुंचे चारों लोग फॉल के बगल में स्थित एक ऊंचे पत्थर पर खड़े होकर सेल्फी ले रहे थे। लगातार हुई बारिश के कारण पत्थर पर चिकनाई बढ़ गई थी। इसी बीच, अचानक पानी का बहाव भी तेज हो गया। बहाव से बचने के लिए सभी एक दूसरे का हाथ पकड़ दूसरे सुरक्षित पत्थर की ओर जाने लगे। लेकिन, आगे चल रहे समीर का पैर फिसला और वह पानी में जा गिरा। उसे गिरता देख अंजली ने उसे बचाने के लिए पानी में छलांग लगा दी। दोनों डूबने लगे। अपने दोनों दोस्तों को पानी में डूबता देख दिव्यायन ने भी छलांग लगा दी। हालांकि, पानी की गहराई कम थी, लेकिन प्रवाह तेज था। इसी बीच जोन्हा के कुछ युवक भी फॉल का नजारा ले रहे थे। डूब रहे इन युवकों को देख सबसे पहले सुदिक्षा को इन लोगों ने पानी में छलांग लगाने से रोका। इसके बाद अंजली को बचाया गया। इस आपाधापी में दोनों युवक पानी में कहीं गुम हो गए। बाद में सूरज साहू और दूसरे युवकों ने फॉल के ऊपर आकर अन्य लोगों को इसकी जानकारी दी। ग्रामीणों ने दोनों युवकों को पानी में तलाशा लेकिन नहीं मिले। इसी बीच अनगड़ा पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। करीब दो घंटा बाद दोनों युवकों का शव बरामद किया जा सका। अंजली ने पुलिस को बताया कि वे चारों जोन्हा फॉल घूमने आए थे। इसी बीच घटना घट गई। इस घटना के बाद से मृतक के परिजन सदमे में हैं। इकलौता बेटा खो गया है। इधर, झारखंड पर्यटन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद व बालेश्र्वर बेदिया ने दोनों की मौत पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए पर्यटकों से अपील की है कि वे जब भी किसी फॉल में घूमने जाए सुरक्षा नियमों का पालन अवश्य करें, हो सके तो अपने साथ गाइड ले जाएं।

Share This Post

Post Comment