हार से बौखलाए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दी कांग्रेस को खुली चुनौती

मुंबई, महाराष्ट्र/राजू सोनीः बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने दिसंबर में होने वाले गुजरात विधानसभा में कांग्रेस को दो-दो हाथ आजमाने की चुनौती दी है। अमित शाह ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आपको जितनी ताकत लगानी है लगा लो, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और नितिन पटेल के नेतृत्व में नर्मदा परियोजना का विकास आप नहीं रोक पाएंगे। इसके बाद उन्होंने स्वीकार करते हुए कहा कि, राज्यसभा चुनाव में उनके प्रत्याशी बलवंतसिंह राजपूत को अपेक्षा से कम वोट मिले। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए बलवंत कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल से हार गए। मंगलवार देर रात तक चले राजनीतिक उठापटक के बीच रणनीतिक हार झेलने के बावजूद शाह ने बुधवार को राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस को चुनौती दी। गुजरात विधानसभा सदस्य के तौर पर अपने आखिरी संबोधन में शाह ने कहा कि वह अपनी उस बात पर अडिग हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा 150 सीटों पर जीत हासिल करेगी। शाह ने विधानसभा अध्यक्ष रमन वोरा को उनके आवास पर जाकर अपने विधायक पद का त्यागपत्र सौंपा। शाह ने कहा कि, “गुजरात के पिछले 20 वर्षो को विकास के इतिहास में स्वर्णिम काल के तौर पर देखा जाएगा।” पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, “काम करने के लिए तैयार रहिए और आगामी विधानसभा चुनाव में तीन-चौथाई बहुमत हासिल करना सुनिश्चित कीजिए.” भाजपा के राज्य प्रवक्ता भरत पांड्या ने कहा कि कांग्रेस के बागी नेता शंकरसिंह वाघेला अगर भाजपा में शामिल होना चाहें तो पार्टी इस पर विचार करेगी। पिछले महीने कांग्रेस छोड़ते हुए वाघेला ने कहा था कि वह किसी अन्य दल के साथ नहीं जाएंगे और न ही अपनी पार्टी बनाएंगे। दूसरी ओर मंगलवार को राज्यसभा चुनाव में पटेल के पक्ष में मतदान करने वाले 43 कांग्रेस विधायकों ने वरिष्ठ पार्टी नेताओं के साथ बैठक की और आगामी विधानसभा चुनाव में पूरे दमखम के साथ लड़ने का संकल्प लिया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने कहा, “राज्यसभा चुनाव में जीत ने हमारा आत्मबल कई गुना बढ़ा दिया है। अहमदभाई अहम भूमिका निभाएंगे।

Share This Post

Post Comment