भूमाफियाओं की लिखित एवं साक्ष्य सहित सूचना देने वाले को मण्डलायुक्त देगें नगद ईनाम

गौंड़ा, उत्तर प्रदेश/मयूर रैतानीः स्वच्छता कार्यक्रम में फिसड्डी अधिशासी अधिकारियों का मण्डलायुक्त ने रोका वेतन भूमाफियाओं की लिखित एवं साक्ष्य सहित सूचना देने वाले को मण्डलायुक्त देगें नगद ईनाम गोंडा।स्वच्छ भारत मिशन(शहरी) के तहत नगर पालिका/नगर पंचायत क्षेत्र में शौचालयों को रैपिड सर्वे पूरा न कराने के कारण नाराज मण्डलायुक्त देवीपाटन मण्डल एस0वी0एस0 रंगाराव ने मण्डल के जनपदों के अधिशासी अधिकारियों का वेतन तत्काल प्रभाव से रोक दिया है। इसके अलावा सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे न होने सम्बन्धी लेखपालों द्वारा दिए गए शपथ पत्र पर झूठी रिपोर्ट देने वाले लेखपालों के खिलाफ कार्यावाही करने के आदेश दिए हैं तथा दूसरे की बी0 फार्मा डिग्री के सहारे चल रहे मेडिकल स्टोरों पर छापेमारी कराकर डिग्रियों का सत्यापन कराया जाए और फर्जी डिग्री वाले मेडिकल स्टोर संचालकों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं। एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स की समीक्षा के दौरान मण्डलायुक्त ने सभी जनपदों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि चिन्हित किए गए भूमाफियों के खिलाफ पन्द्रह दिनों के भीतर गुण्डा एक्ट, गैंगस्टर और जिला बदर की कार्यवाही करते हुए जेल भेजें और कार्यवाही की जिलावार रिपोर्ट उनके समक्ष प्रस्तुत करें। इसके अतिरिक्त सभी लेखपालों से हर पन्द्रह दिन पर शपथपत्र पर सत्यापन रिपोर्ट ली जाए कि उसके क्षेत्र में कोई भी सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा नहीं है। उन्होने चेतावनी दी है कि किसी भी व्यक्ति की शिकायत पर जांच कराने के उपरान्त यदि यह साबित हो गया कि लेखपाल द्वारा झूठी रिपोर्ट लगाई है तो निश्चित ही उस लेखपाल को निलम्बित करते हुए विभागीय कार्यवाही कर दी जाएगी। उन्होने मीडिया और जनसामान्य से अपील की है कि कोई भी व्यक्ति साक्ष्यों सहित भूमाफिया की सूचना उन्हें देगा और जांच में उसकी शिकायत जांच में सही मिलने पर स्वयं उनके द्वारा शिकायतकर्ता को पांच हजार रूपए का नगद पुरस्कार दिया जाएगा और शिकायतकर्ता की शिकायत झूठी मिलने पर उसके विरूद्ध भी कार्यवाही होगी। उन्होने जनपद के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे सम्पूर्ण समाधान दिवस में राजस्व विभाग के लेखपालों से सम्पूर्ण समाधान दिवस शुरू होने के पूर्व ही उनके क्षेत्रों में अवैध कब्जे न होने की सत्यापन रिपोर्ट लें लें। इसी प्रकार अब मेडिकल स्टोर पर मेडिकल स्टोर मालिक को अपना मूल पहचान पत्र व बी0फार्मा की डिग्री लेकर बैठना अनिवार्य रूप से बैठना होगा अन्यथा की दशा में कार्यवाही कर दी जाएगी। मण्डल में संचालित सभी पेट्रोल पम्पों पर प्रतिमाह छापेमारी करने तथ नमूने लेने के निर्देश बांटमाप अधिकारी को दिए गए हैं। खाद्य पदार्थों में मिलावट को प्रभावी ढंग से रोकने हेतु लगातार छापेमारी करने तथा नमूने लेकर फोरेन्सिक लैब तक समय भेजवाने तथा रिपोर्ट के आधार पर अधिकतम जुर्माना लगाने के निर्देश दिए हैं। खाद्यान्न की समीक्षा के दौरान मण्डालयुक्त ने कहा कि खाद्याान्न के मामले में गोण्डा में संतोषजनक कार्य नहीं हो रहा है। जनपद में 61 कोटे की दुकानें रिक्त/सम्बद्ध या निलम्बित हैं। उन्होने रिक्त सभी दुकानों को आवंटित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए हैं। बैठक में अपर आयुक्त प्रशासन देवीपाटन मण्डल, सीआरओ गोण्डा ए.के. शुक्ल, जनपद बहराइच, बलरामपुर व श्रावस्ती के एडीएम , नगरपालिका एवं नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment