चार राज्यों में चोटी काटने की हुईं 80 घटनाएं, रात भर पहरा दे रहे हैं लोग, टोने-टोटके शुरु

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः देश के चार राज्यों में चोटी कटने की घटना से दहशत है। लोग अपनी नींद खराब करके रात रातभर जाग तक पहरा देने को मजबूर हैं। यूपी के मथुरा में फिर से कल चोटी कटने की घटना सामने आई है। वहीं, आगरा में चोटी काटने वाली महिला समझ कर एक बुजुर्ग की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। यूपी के मथुरा जिले के नगला आख्खा गांव में लोग पहरेदारी को मजबूर हैं। दरअसल गांव के बीचो बीच मौजूद घर की एक महिला की चोटी काटने की घटना कल सुबह साढ़े 9 बजे से 10 बजे के बीच हो गई। जिससे पूरे गांव के लोग खौफ में हैं। गांव में दहशत का माहौल इस कदर है कि अब एक ये अफवाह ये भी फैल गई है कि जिनके पति के नाम की शुरुआत न अक्षर से हो रही है उनके बाल काट रहे हैं। नगला आख्खा गांव के आस-पास के गांव में जिन तीन महिलाओं की चोटी कटी है उनके पति के नाम निरपत सिंह, नवल सिंह और निरंजन सिंह हैं। खौफ से बाहर निकलने के लिए लोगों ने टोने-टोटके का सहारा लेना शुरू कर दिया है। शायद ही ऐसा कोई घर बचा हो जहां पर टोना टोटका न किया गया हो। नगला आख्खा गांव में प्रशासन या पुलिस का कोई इंतजाम नहीं दिखा। अंध विश्वास के नाम पर यूपी के आगरा में एक बुजुर्ग महिला की पीट पीटकर हत्या कर दी गई। वहीं यहां एक और घटना में महिला की चोटी कट गई। आगरा के डौकी गांव में चुड़ैल होने के शक में 75 साल की बुजुर्ग महिला की पीट पीटकर हत्या कर दी गई। माना देवी रात के अंधेरे ही शौच के लिए बाहर गईं थी, अंधेरा होने की वजह रास्ता भटक कर दूसरी बस्ती में चली गईं। विधवा थीं इसलिए सफेद साड़ी पहन रखी थी। इसी सफेद साड़ी की वजह से वहां एक लड़की ने उन्हें चुड़ैल समझ लिया और शोर मचा दिया। हालांकि जिस परिवार पर माना देवी को पीटने का आरोप लगा है उस परिवार की महिला प्रकाशी देवी के मुताबिक माना देवी ने ही उनके बाल काटे हैं। हालांकि गांव की कुछ महिलाओं और ग्राम प्रधान का दावा है कि उनके गांव में चोटी काटने की घटनाएं नहीं हो रही हैं। दूसरी ओर आगरा और राजस्थान की सीमा पर मौजूदा मांगरोल जाट गांव में मिथिलेश नाम की महिला की चोटी कट गई। आगरा में भी चोटी काटने की घटना से हड़कंप है। डर, दहशत और अफवाह की वजह से अब लोगों की जान पर बन आई है। दिल्ली के तिलनगपुर कोटला इलाके में लोग बेहद डरे हुए हैं। परसों रात बगल के गांव कांगनहेड़ी में एक महिला की चोटी काट दी गई थी। गांव के लोगों ने बताया कि जब से यहां पर चोटी काटे जाने की घटना हुई है तब से महिलाओं में दहशत है। लोग दस बजे के बाद घर से बाहर नहीं निकलते। यहां पुलिस नहीं आ रही है इसलिए खुद ही पहरा देना पड़ रहा है। हरियाणा के फरीदाबाद में चोटी कटने की घटना से लोगों में दहशत का माहौल है। लोग अपनी नींद हराम करके रातभर खुद गांव में पहरा दे रहे हैं। चोटी काटने की घटना ने पूरे गांव की नींद उड़ा दी है। फरीदाबाद में पिछले कुछ दिनों में महिलाओं की चोटी काटने की तीन घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इस घटना को कौन अंजाम दे रहा है। ये जानने के लिए सिकरी गांल के लोग रात भर जाग कर पहरा दे रहे हैं। गांव में पिछले दिनों 2 लड़कियों और एक महिला की चोटी काटने की घटना हुई। इसे किसने अंजाम दिया और कैसे बाल काटा उन लड़कियों को भी नहीं पता चला। गांव के लोग दहशत के साए में जीने को मजबूर हैं।  हरियाणा के हिसार से भी कल चोटी कटने की एक घटना सामने आई है, जिसके बाद हिसार के न्यू योगनगर के लोग डरे हुए हैं। न्यू योग नगर की रहने वाली कमला देवी सो रही थीं सुबह जगीं तो उनकी चोटी जमीन पर कटकर पड़ी थी। कमला देवी को चोटी काटने की घटना का अहसास भी नहीं हुआ। चोटी कटने की घटना के बाद इलाके में अफवाहों का दौर शुरू हो गया है। अफवाह फैलाई जा रही है कि जिनकी चोटी कटेगी उनकी तीन दिन में जान चली जाएगी। राजस्थान के धौलपुर में भी लोग चोटी कटने की घटना से परेशान हैं। लोगों ने बचने के लिए घर के बाहर लोगों ने टोना टोटका शुरू कर दिया है। यहां एक ही नहीं ऐसे दर्जनों घर दिखे जहां पर लोगों ने चोटी कटने से बचने के लिए टोना टोटका शुरू कर दिया है। गांव के लोगों ने दहशत से बचने के लिए या तो नीबू मिर्च लटका रखा है या फिर दीवार पर हल्दी के छाप लगा दिए हैं।

 

Share This Post

Post Comment