नाबालिग लड़की के बलात्कार आरोपी को मिली पांच साल की सजा

थाने, महाराष्ट्र/नगर संवाददाताः थाने के एक कोर्ट ने नवी मुंबई के एक 26 वर्षीय शख्स को एक नाबालिग लड़की के यौन उत्पीड़न के आरोप में पांच साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। थाने जिला और विशेष न्यायाधीश आशुतोष एन कर्माकर ने पिछले सप्ताह पॉस्को अधिनियम की धारा 7 और 8 के तहत उसे आरोपी ठहराया था। जानकारी के मुताबिक, 5 वीं कक्षा में पढ़ने वाली 10 वर्ष की छात्रा नवी मुंबई के पवाने स्थित अपने घर में अकेली थी जब उसके साथ दुष्कर्म किया गया। वारदात 6 दिसंबर 2014 की है। नाबालिग पीड़िता पानी लेने के लिए घर से बाहर गई हुई थी। जब वह घर वापस आई तो उसके पड़ोसी ने जबरन घर में घुसकर उसके साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया। जब लड़की ने इसका विरोध किया तो उसे जमीन पर गिरा दिया और आरोपी वहां से भाग गया। जब लड़की की मां शाम को काम से वापस घर आई तो लड़की ने अपनी मां को सारी बात बताई, जिसके बाद उसकी मां ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। आरोपी ने अपने बचाव में कहा कि लड़की की मां की उसके रिश्तेदार के साथ पानी को लेकर विवाद चल रहा था जिसे लेकर उसने मामला सुलझाने को कहा था। लेकिन लड़की की मां ने उसकी बात ना मानते हुए उस पर इस तरह के झूठे इल्जाम लगाए। आरोपी ने कोर्ट से दया की मांग करते हुए कहा कि वह काफी गरीब है, अपने घर पर इकलौता कमाने वाला है और उसकी पत्नी, बच्चे और मां सहित पूरा परिवार उस पर निर्भर है। लेकिन कोर्ट ने उसकी बात ना मानते हुए आरोपी को पांच साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई।

Share This Post

Post Comment