बाढ़ के हालातों से निपटने के लिए सरकारी आवास पर हुई बैठक

जालोर, राजस्थान/मोहन पुरोहितः प्रदेश में खासकर जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में बाढ़ के हालातों से निपटने के लिए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर एक बैठक हुई, जिसमें मुख्य सचिव श्री अशोक जैन सहित सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री ने इस बैठक में साफ-साफ निर्देश दिए कि किसी भी स्थिति में बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाई जाये। इसमें कोताही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही बरतने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। यहां उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्रीमती राजे शनिवार को जयपुर से बाढग्रस्त इलाके में जाने के लिए हेलीकाॅप्टर से रवाना हुई थी लेकिन मौसम खराब होने के कारण वे जालोर नहीं उतर सकी। उन्होंने हवाई सर्वे जरूर किया। इसके बाद जयपुर पहुंचते ही उन्होंने अधिकारियों की बैठक ली और कहा कि संकट और प्राकृतिक आपदा की घडी में सरकार हर पल वहां के लोगों के साथ खडी है। हर सम्भव मदद करने को तैयार है। बाढ की सम्भावना के साथ ही तुरन्त प्रभाव से प्रभारी मंत्रियों और अधिकारियों को प्रभावित जिलों में भेजा गया, जो निरन्तर 24-25 जुलाई से राहत गतिविधियों के संचालन का जायजा एवं स्थिति को नियत्रंण में रखे हुए है। इससे पूर्व 26 जुलाई को मुख्यमंत्री ने विडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा की थी तथा जिला कलक्टरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

Share This Post

Post Comment