कैश वैन से लुटे थे 34.50 लाख, छह बदमाश गिरफ्तार

अलीगढ़, उत्तर प्रदेश/संजीव सैनीः चर्चित कैश वैन लूटकांड का आखिरकार मंगलवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। कैश वैन के गार्ड को गोली मारकर बाइक सवार लुटेरों ने 34.50 लाख रुपये लूटे थे। पुलिस ने छह लुटेरों को गिरफ्तार कर छह लाख से अधिक रकम बरामद कर ली है। चोरी की बाइक से लूट को अंजाम दिया गया था। खैर के गौमत चौराहे के पास लूटी गई रकम का बंटवारा किया गया। यह खुलासा एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने किया। पुलिस लाइन स्थित मीटिंग हॉल में अभियुक्तों को पेश करते हुए एसएसपी ने कहा कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने बताया है कि धनीपुर मंडी के गेट के पास आदेश उर्फ रॉकी पुत्र जयवीर सिंह निवासी विकास लोक कालोनी का ढाबा है। ढाबे के सामने आईसीआईसीआई का एटीएम है। उसके ढाबे पर रजत शर्मा पुत्र राज कुमार शर्मा निवासी गांव सिहोर थाना अकराबाद हाल निवासी गंगा पैलेस वाली गली थाना गांधी पार्क का आना-जाना लगा रहता था। रॉकी ने सीएमएस कंपनी की कैश वैन द्वारा एटीएम में लाखों के कैश लोडिंग की जानकारी रजत को दी। यह बात रजत ने अपने साथी हनुमान उर्फ दीपक को बताते हुए कहा कि अगर सीएमएस कंपनी की कैश वैन को लूट लेते हैं तो मोटी रकम हाथ लग सकती है। इसको लेकर क्वार्सी स्थित अन्नापुरम कालोनी में सुमित चौधरी के किराए के फ्लैट में सुमित चौधरी, विकास खुजली, सोनी चौधरी, हनुमान, रजत, गोपाल, मोहित, रॉकी, ललित व अरुण उर्फ टोरी ने घटना की प्लानिंग तैयार की। वारदात से पहले की गई रैकी शातिरों ने वारदात की प्लानिंग बनाने के बाद सबसे पहले कैश वैन की रैकी की। रैकी में पता चला कि कैश वैन सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को धनीपुर मंडी स्थित एटीम पर पहुंचती है। सोमवार को करीब तीन बजे, बुधवार को ढाई बजे और शुक्रवार को चार से साढ़े चार बजे के बीच पहुंचती है। तो क्या तीन दिन पहले होनी थी वैन में लूट प्लानिंग के मुताबिक टोरी, सुमित व विकास चोरी की बाइक की व्यवस्था में जुट गए। उन्होंने हरदुआगंज क्षेत्र से काले रंग की अपाचे यूपी 81 एवाई 9855 लूट ली। इसके बाद 14 जुलाई को पूरे गैंग द्वारा वारदात को अंजाम देने का प्रयास किया। ऐन वक्त पर अटैकिंग टीम की अपाचे बाइक पंचर हो जाने के कारण घटना को अंजाम नहीं दे सके। इसके बाद 17 जुलाई की प्लानिंग तय की गई। पूरी प्लानिंग के साथ दिया वारदात को अंजाम एसएसपी ने बताया कि 17 जुलाई को शातिरों ने पूरी प्लानिंग के साथ वारदात को अंजाम दिया। हनुमान अपने साथी सोनू की बाइक व तमंचे के साथ एटा चुंगी पर दो बजे खड़ा हो गया। जबकि सुमित, विकास व सोनू अपाचे से एटीएम के सामने एक खोखे पर खड़े होकर वैन का इंतजार करने लगे। रजत एटीएम के पास खोखे पर खड़ा हो गया। जबकि रॉकी अपने ढाबे पर बैठकर निगरानी करने लगा। दोपहर 2:53 बजे कैश वैन दिखाई देने के बाद अपने साथियों को इशारा करते हुए पेट्रोल पंप के पास खड़ा हो गया। जैसे ही कैश वैन एटीएम के पास पहुंची तभी सोनू ने पहली गोली गार्ड राकेश मिश्रा को मार दी। इसके बाद दूसरी गोली विकास खुजली ने मार दी। जबकि विकास खुजली ने धमकी दी कि किसी ने विरोध किया तो उसे गोली मार दी जाएगी। इसके बाद विकास ने कस्टोडियन कमालुद्दीन के सिर पर रिवाल्वर की बट मारकर घायल कर दिया। इधर, सुमित ने नोटों से भरे दो बैग लूट लिए, जिसमें नौ लाख व 25 लाख रुपये थे। साथ ही कस्टोडियन की जेब से 50 हजार रुपये भी निकाल लिए। इसके बाद तीनों बाइक पर बैठ गए। इस बीच एक बैग जमीन पर गिर गया। बैग को उठाने के दौरान विकास ने जनता में दहशत पैदा करने के लिए हवाई फायर कर दिया और बैग उठाकर भाग गए। धनीपुर ब्लाक वाली सड़क से मुड़कर मंडी के पीछे होते हुए फ्लैट पर पहुंच गए। 0-नौ लाख रुपये आपस में बांट लिए एसएसपी के मुताबिक शातिर घटना को अंजाम देने के बाद फ्लैट पर पहुंचे। जहां सुमित ने नौ लाख वाला बैग रजत, हनुमान व सोनू को देकर आपस में बांटने को कहा। बाकी 25.50 लाख का बंटवारा 25 जुलाई को करने के लिए कहा। इसके बाद सुमित, विकास, रजत, हनुमान, ललित गोपाल की स्कार्पियो में बैठकर कैश के साथ अतरौली होते हुए बुलंदशहर चले गए। 0-वैन से बुलंदशहर में विकास के गांव पहुंचे शातिर एसएसपी के मुताबिक सुमित, रजत, विकास व हनुमान रोडवेज बस से नरौरा पहुंच गए। जहां से मारुति वैन किराए पर लेकर विकास के गांव हरचंद्रपुर थाना अहमदगढ़ बुलंदशहर पहुंचे। गांव में पहुंचते ही विकास के घरवालों ने कहा कि गांव में एक मर्डर हो गया है, तुम लोग यहां से चले जाओ अन्यथा तुम्हारा नाम इस घटना में आ जाएगा। इसके बाद चारों शातिर बुलंदशहर में पहुंचकर एक होटल में रुके। यहां अगले दिन चारों अलग-अलग हो गए। 0-गिरफ्तार अभियुक्तों का प्रोफाइल -सोनू चौधरी पुत्र सुरेंद्र सिंह निवासी ढुकपुरा थाना गोंडा काफी शातिर है। इसके खिलाफ इगलास, खैर व गोंडा में 110जी, गैंगस्टर एक्ट के अलावा धारा 379, 367, 307 आदि के छह मुकदमे दर्ज हैं। इसके पास 32 बोर की रिवाल्वर, चार जिंदा कारतूस व दो खोखा कारतूस व लूटे गए कैश का एक लाख 35 हजार रुपये के अलावा अपाचे बाइक बरामद हुई है। -रजत शर्मा पुत्र राज कमार शर्मा निवासी ग्राम सिहोर थाना अकराबाद बीएससी द्वितीय वर्ष का छात्र भी है। उसके खिलाफ खुर्जा थाने में धारा 307 का मुकदमा दर्ज है। एक तमंचा, दो जिंदा एक एक खोखा कारतूस व एक लाख रुपये के अलावा एक बाइक बरामद हुई है। -दीपक ठाकुर उर्फ अभिषेक उर्फ हनुमान पुत्र सज्जनपाल सिंह निवासी ठाकुर बस्ती चौक धनीपुर थाना गांधी पार्क बीएससी कर रहा है। उसके खिलाफ भी खुर्जा थाने में धारा 307 का मुकदमा दर्ज है। इसके पास से एक तमंचा, तीन जिंदा व दो खोखा कारतूस के अलावा लूट के 65 हजार रुपये बरामद हुए हैं। -अरुण राघव उर्फ टोरी पुत्र राकेश राघव निवासी तालसपुर थाना क्वार्सी इंटरमीडिएट तक पढ़ा है। ये भी काफी शातिर है। इसके पास से एक तमंचा, तीन जिंदा व दो खोखा कारतूस के अलावा लूट के 65 हजार रुपये बरामद हुए हैं। -आदेश उर्फ रॉकी पुत्र जयवीर सिंह निवासी विकास लोक कालोनी धनीपुर थाना गांधी पार्क ढाबा संचालक है। उसी ने सीएमएस कंपनी की वैन की जानकारी दी थी। इसके पास से एक तमंचा, दो जिंदा व एक खोखा कारतूस के अलावा लूट के 95 हजार रुपये बरामद हुए हैं। -मोहित पुत्र दुष्यंत सिंह निवासी टीचर्स कालोनी धनीपुर थाना गांधी पार्क। इसके पास से एक तमंचा, एक जिंदा व एक खोखा कारतूस के अलावा लूट के 1.10 लाख रुपये बरामद हुए हैं।

Share This Post

Post Comment