धन होने के बावजूद निर्माण कार्यों की धीमी रफ्तार से नाराज डीएम

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः धन होने के बावजूद निर्माण कार्यों की धीमी रफ्तार से नाराज डीएम ने कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाते हुए शीघ्र अतिशीघ्र निर्माण कार्यों में तेजी लाने तथा निर्माण कार्यों की प्रगति रिपोर्ट सही न देने पर कठोर कार्यवाही की चेतावनी दी है। शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में डीएम जेबी सिंह व सीडीओ ने कार्यदायी संस्थाओं  के साथ बैठक कर जनपद में निर्माणधाीन एक-एक परियोजना की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान डीएम ने सबसे पहले पचास लाख से अधिक की लागत वाले निर्माण कार्यों की समीक्षा की जिसमें ज्ञात हुेआ कि जनपद में कुल 122 परियोजनाओं में 21 परियोजनाएं अनारम्भ हैं। चार कस्तूरबा गांधी विद्यालय, एक हाईस्कूल, राजकीय महिला पालीटेक्निक छात्रावास, बच्चा वार्ड आईसीयू, नगर क्षेत्र में आसरा आवास, लेखपाल ट्रेनिंग सेन्टर, राजकीय इन्जीनियरिंग कालेज, फोरेन्सिक लैब, आईटीआई परसपुर, कृषि महाविद्यालय, मनकापुर तहसील में आवासीय भवन का निर्माण, आदमपुर पालीटेक्निक में छात्रावास, लक्ष्मणपुर में कृषि केन्द्र का निर्माण कार्य बेहद धीमा पाया गया जबकि  जल निगम की आठ पेयजल परियोजनाएं, ग्रामीण अभित्रंयण विभाग के द्वारा निर्माण कराए जाने वाले ग्यारह कार्य अनारम्भ पाए गए। डीएम ने दोनों विभागों के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए तत्काल कार्य प्रारम्भ कराने के निर्देश दिए। डीएम ने साफ शब्दों में कहा कि वे अब हर माह एक कए निर्माण कार्य की स्वयं अलग से समीक्षा करेगें और सुधार न करने वाले अधिकारी अब कतई बख्शे नहीं जाएगें। पूर्वान्चल निधि की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि निधि से 16 निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं। इसके अलावा क्रिटिकल गैप्स से निर्माणाधीन कार्यों की प्रगति रिपोर्ट व लिस्ट डीएम ने दो दिन के भीतर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। गोण्डा-बलरामपुर रोड को अतिशीघ्र दुरूस्त कराने के लिए अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण-खण्ड एक को सख्त निर्देश दिए हैं। डीएम ने सभी निर्माणदायी संस्थाओं के अधिकारियों को स्पष्ट चेतावनी दी है कि अगली बैठक में प्रगति रिपोर्ट व सही रिपोर्ट के साथ हीं आएं अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहें। बैठक में सीडीओ दिव्या मित्तल, डीसीओ पीएन सिंह, एक्सीएन पीडब्लूडी, जल निगम, विद्युत, आरईएस, मण्डी, समाज कल्याण, फैक्सपेड, सीएण्डडीएस, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सहित अन्य निर्माणदायी विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment