जवाई बांध का तेजी से भरना अब जालोर के लिए हो सकता है चिंताजनक

जालोर, राजस्थान/अमराराम चौधरीः जवाई बांध का तेजी से भरना अब जालोर के लिए चिंताजनक हो सकता है। जवाई नदी पहले से बह रही है और अधिकांश जिला बाढ़ की चपेट में है। ऐसे में यदि जवाई बांध के गेट खोले जाते हैं तो यह पानी जालोर तक पहुंचेगा। इससे नदी के रास्ते में आने वाले गांवों में एक बार फिर से बाढ़ की आशंका खड़ी हो सकती है। बांध का पानी जवाई नदी होकर जालोर जिले के अंतिम छोर तक पहुंचता है। ऐसे में बीच रास्ते में आने वाले गांवों का जलस्तर भी बढ़ जाता है। इस लिहाज, से जवाई बांध में पानी को लेकर किसानों में काफी उत्सुकता रहती है। पिछले साल की तरह, इस बार भी जवाई बांध जल्दी ही फुल होने जा रहा है। जवाई के जलग्रहण क्षेत्र में रुक-रुककर बारिश हो रही है। जिसके फलस्वरूप बेड़ा के समीप स्थित जवाई नदी में जलप्रवाह चल रहा है। नदी का पानी निरंतर जवाई बांध पहुंच रहा है। जलग्रहण क्षेत्र व सेई हो रही जलआवक के चलते जवाई बांध के जलस्तर अनवरत बढ़ोतरी हो रही है। मंगलवार शाम जवाई बांध का जलस्तर 55.30 फीट था। जो मंगलवार शाम छह बजे कुल भराव क्षमता 61.25 के मुकाबले 6620 एमसीएफटी जल उपलब्धता के साथ बढ़कर 58.45 फीट हो गया। बांध पर पानी गेटों 13।45 फीट पर चढ़ गया है। बांध में जल आवक जारी है। रात तक जलस्तर में सुधार होना तय है। जवाई के जलग्रहण क्षेत्र में बादल भी छाए हुए है और रुक-रुककर बारिश का दौर चल रहा है। उधर, जवाई के सहायक सेई बांध के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश का दौर जारी है। सोमवार को बांध का जलस्तर कुल भराव क्षमता 10.93 मीटर के मुकाबले 1618.47 एमसीएफटी जल उपलब्धता के साथ 10.95 मीटर हो गया था और बांध पर 2 सेंटीमीटर की चादर चलने लगी। बुधवार को बांध में जलआवक हुई। जिससे सेई का जल स्तर बढ़कर 11.15 मीटर हो गया। बांध पर अब 22 सेंटीमीटर की चादर चल रही है।

Share This Post

Post Comment