जालोर जिले में बाढ़ के हालात, भीनमाल की स्थिति हो गई टापू जैसी, कई लोग फंसे है पानी में

जालोर, राजस्थान/पीराराम पटेलः जालोर जिले भर मे हरियाली अमावस्या पर इंद्रदेव की मेहर जमकर बरसी। शनिवार शाम करीब 7 बजे शुरू हुआ बारिश का दौर, जिले भर रविवार दिन भर जारी सोमवर को सवेरे 2 जिले तक जालोर मे भारी बारिश के कारण जालोर-भीलड़ी रेलमार्ग बंद है। जिले में बीते 42 घंटों से पाँथेड़ी पोषाणा बोरवाड़ा सायला मे तेज बारिश का दौर जारी है। यहां पर तेज बारिश के चलते बाढ़ के हालात हो गए है। भीनमाल में तो टापू जैसी स्थिति हो गई है। यहां का सम्पर्क सभी रास्तों से कट गया है और शहर में लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिले की सभी नदियों में तेज पानी चल रहा है। भीनमाल की कोडी नदी की रपट टूटने से सम्पर्क कट गया है। जिले के कई बांध ओवरफ्लो हो गए है। धाणसा और धनाणी के बीच बीस मजदूर पानी में फंसे हुए है। मोदरा पुलिस उन्हें निकालने का प्रयास कर रही है। ये मजदूर पेड़ों पर चढ़कर बैठे है। ये लोग बचाव के लिए कपड़ा लहरा रहे हैं, लेकिन फिलहाल यहां तक पहुंच सुनिश्चित नहीं हो पाई है। सायला थाना पुलिस भी मौके पर मौजूद है। परन्तु उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं कर पा रही है। जिला प्रशासन ने हैलीकाॅप्टर की मदद मांगी है, लेकिन फिलहाल वह पहुंचा नहीं है।

Share This Post

Post Comment