हत्याकांड का खुलासा

गुमला, झारखंड/अमित राजः गुमला के प्रसिद्ध ईंट भट्ठा व्यवसाय श्यामलाल प्रसाद की हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर लिया है। हत्याकांड में शामिल दो अपराधियों को पुलिस ने एक देसी पिस्तौल तीन जिंदा कारतूस एक टांगी और एक मोटरसाइकिल बरामद किया है । इस हत्याकांड में सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि मृतक श्यामलाल प्रसाद के बड़े बेटे ने अपराधियों को सुपारी देकर अपने पिता का हत्या कराया था।  जिले के एसपी चंदन झा ने आज संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर बताया कि एक सप्ताह पूर्व ब्यवसाई श्यामलाल प्रसाद की अज्ञात अपराधियों ने उस  गोली मारकर हत्या कर दी थी जब वे सुबह अपने ईंट भट्ठे से लौट रहे थे। इस हत्याकांड से पुलिस  के समक्ष एक चुनौती खड़ी हो गयी थी। जिसको लेकर मुख्यालय डीएसपी इन्द्रमणि चौधरी के नेतृत्व में  पुलिस की एक टीम बनाई गई। जल्द ही पुलिस को हत्याकाण्ड ला सुराग मिल गया जिसके कारण एक अपराधी को पुलिस ने धर दबोचा । गिरफ़्तार अपराधी से गहन पूछताछ में सारे मामले का पट्टा क्षेप हो गया। एसपी ने बताया कि हत्याकांड में मृतक के बड़े बेटे रुपेश लाल ने संपत्ति विवाद में अपने पिता की हत्या कराई है। उन्होंने बताया कि रुपेश लाल अपने नजदीकी रिश्तेदार की लड़की से शादी कर ली थी। जिसके कारण श्यामलाल प्रसाद उसे अपनी संपत्ति से बेदखल कर दिए थे। साथ ही अपनी संपत्ति को छोटे बेटे के नाम कर दे रहे थे। इसी कारण रुपेश लाल ने अपराधी शंकर प्रधान एवं अनुज जायसवाल से बातचीत कर भंडरिया निवासी प्रदीप गोप उर्फ़ टीका को श्यामलाल को मारने के लिए सुपारी दिए थे। श्यामलाल को मारने की घटना में प्रदीप गोप उर्फ टिंकू चेतन मिश्रा उर्फ पप्पू मिश्रा एवं राजेश लोरा शामिल थे। उन्होंने बताया कि बहुत जल्द इस हत्याकाण्ड में संलिप्त अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।

Share This Post

Post Comment