डीएम व एसपी ने बाढ़ क्षेत्रों का भ्रमण कर लिया जायजा

डीएम व एसपी ने बाढ़ क्षेत्रों का भ्रमण कर लिया जायजा

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबूः जिलाधिकारी जेबी सिंह व पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से तहसील करनैलगंज अन्तर्गत बाढ़ प्रभावित गांवों एवं एल्गिन-चरसडी बंधे निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री सिंह ने अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश दिए कि किसी भी दशा में कहीं कोई जनहानि न होने पाए। वहीं बाढ़ पीड़ितो में राहत सामग्री वितरित करने में कोताही न बरती जाय। साफ शब्दों में कहा कि शिकायत मिलने पर सम्बन्धित पर कठोरतम कार्रवाई अवश्य की जायेगी। उन्होंने राहत सामग्री, दवाओं, केरोसिन आयल व अन्य दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तुओं की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिए हैं। डीएम ने जानकारी देते हुए बताया कि घाघरा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। इसके चलते तहसील क्षेत्र के ग्राम नकहरा, काशीपुर, गौरासिंह बाढ़ के पानी से प्रभावित हैं। वहीं बहुवनमदार माझा के एक गांव में भी बाढ़ का पानी पहुँच गया है। सम्भावित बाढ़ के दृष्टिगत तहसील करनैलगंज अन्तर्गत बाढ़ क्षेत्र में सभी 19 बाढ़ राहत चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। मौके पर रोस्टर वाइज स्वास्थ्य विभाग की टीम, सफाईकर्मी, पशुपालन विभाग की टीम, पूर्ति विभाग की टीम, जल निगम की टीम, विद्युत विभाग की टीम, कार्यक्रम विभाग की टीम, राजस्व विभाग की टीम सहित एक प्लाटून फ्लड पीएसी और एनडीआरएफ की भी एक प्लाटून तैनात की गयी है। जिसे बाढ़ राहत कार्यों में लगा दिया गया है। वहीं बाढ़ प्रभावित गांवों में राहत कार्य तेजी कराये जा रहे हैं। साथ ही जनपद स्तरीय उच्चाधिकारी पाल्हापुर राहत केन्द्र पर कैम्प किये हुए है। एसडीएम करनैलगंज अर्चना वर्मा ने जिलाधिकारी को बताया कि बुधवार को लगभग 6000 लंच पैकेट वितरित किये गये हैं। निरीक्षण के दौरान डीएम ने पाल्हापुर राहत केन्द्र पर मौजूद अधिकारियों के साथ बैठक कर व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी हासिल करते हुए उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये। निरीक्षण के दौरान तहसीलदार करनैलगंज, सीओ करनैलगंज, थानाध्यक्ष परसपुर व थानाध्यक्ष करनैलगंज सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण मौजूद रहे।

Share This Post

Post Comment