12 साल में पहली बार एक मंच पर नारायण राणे व उद्धव ठाकरे

कोंकण, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः कोंकण के कुडल में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ एक मंच पर उपस्‍थित हो कांग्रेस नेता नारायण राणे ने सभी को चौंका दिया। 12 सालों में पहली बार सेना प्रमुख व राणे एक साथ किसी जनसभा में उपस्‍थित हुए। अपने पैतृक जिले सिंधुदुर्ग से गुजरने वाले गोवा-मुंबई हाइवे के विस्‍तार के लिए प्रोजेक्‍ट के उद्घाटन समारोह में राणे ने उद्धव व उनकी पत्‍नी रश्‍मि का स्‍वागत किया। उद्धव ने भी अपने भाषण की शुरुआत में राणे का जिक्र किया। मंच पर मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी उपस्‍थित थे। राणे ने रैली में कहा, ‘महाराष्‍ट्र में देवेंद्र फडणवीस और दिल्‍ली में नरेंद्र मोदी विकास के लिए कई बड़े काम कर रहे हैं। गडकरी विकास पुरुष हैं।‘ इस रैली में सेना और भाजपा कार्यकर्ताओं के अलावा राणे समर्थक भी मौजूद थे। कुछ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राणे का विरोध किया जिसे पुलिस ने वहां से भगा दिया। सूत्रों के अनुसार, इस इवेंट को आयोजित करने के पीछे राणे को कुछ क्रेडिट कमाने का मौका देना था। राणे ने कहा, ‘राजनीति और भावनाओं को विकास के आड़े नहीं आना चाहिए। मैं अच्‍छाई की सराहना करता हूं और कोंकण के लोगों से भी यही अपेक्षा है। उद्धव ने भी सभी नेताओं और पार्टियों से कोंकण के विकास के लिए एकजुट होने की अपील की। उन्‍होंने कहा, ‘हमने अब तक काफी बातें कर ली है लेकिन कोंकण अब भी पिछड़ा हुआ है। अब समय आ गया है कि हम काम करें न कि केवल भाषण दें।‘ राणे के छोटे बेटे नितेश इस क्षेत्र की एक विधानसभा से विधायक हैं जबकि पास के ही एक विधानसभा क्षेत्र में 2014 के चुनाव में राणे को हार मिली थी। अब बांद्रा उपचुनाव में हार के बाद वे ऊपरी सदन में कांग्रेस का प्रतिनिधित्‍व कर रहे हैं।

Share This Post

Post Comment