अफवाहों के कारण हर शहर और गांवों में डर का माहौल

नागौर, राजस्थान/भुराराम जॉगीड़ः पूरे राजस्थान राज्य भर में इन दिनों पिछले 1 महीने से चल रही अफवाहों के कारण हर शहर और गांवों में बड़ा ही डर का माहौल बना हुआ है। सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल हो रही तस्वीरें विड़ियों और मैसेजों से शायद ही कोई गांव बचा होगा जहां से अफवाएं ना बनी हो और अफवाहें भी छोटी बड़ी नहीं इतनी बड़ी है कि शायद देखकर आपकी भी रूह कांप जाए यह अफवाह नागौर जिले से शुरू हुई है कि इन दिनों 50 से 80 गाड़ियों में काफी लोग जो मुसलमान जाति के हैं घूम रहे हैं और किसी को अकेला देखते हैं 20 से 50 फीट कि दूरी से ही उसके बाल या नाक या कान काट कर ले जाते हैं और उस पीड़ित के शरीर पर कुमकुम से एक त्रिशूल और कुछ बिंदियों के निशान छोड़ जाते हैं। घटना के तुरंत बाद दिखने वाला शख्स कुत्ता बिल्ली या कोई भी जानवर बन कर गायब हो जाता है। अपने कपड़े वहीं छोड़ जाता है और उसके 3 दिन के अंदर पीड़ित की मौत हो जाती है। घटना के उपरांत उस पीड़ित को कितना भी झाड़फूंक दवा या बड़े हॉस्पिटल मे चाहें कहीं भी लेकर जाओ पीड़ित का बचना नामुमकिन सा है। सोशल मीडिया पर चल रहे इस प्रकार के मैसेज और वीडियो तथा इमेज के कारण इतना भय फैल गया है कि दिन हो या रात कोई भी शख्स अकेले घर से बाहर नहीं निकलते। इनके अलावा इन घटनाओं का प्रतिरूप कुछ इस प्रकार सामने आया है कि कई गांवों में साधु संत भिखारी या किसी बाहर के आदमी को इस प्रकार का जादू मंत्री समझकर उसके साथ पूरे गांव के लोगों द्वारा मारपीट की जाती है बड़ी यातनाएं दी जाती है और कई जगह तो इन अफवाहों के चलते कई ग्रामीणों द्वारा कई लोगों को मौत के घाट उतारा जा चुका है।  इस पर पुलिस प्रशासन या किसी भी अधिकारी को पूछे जाने पर अफवाओं का पल्ला झाड़ कर सफाई दे देते हैं किसी के भी पास कोई भी जवाब नहीं है कई जगहों पर तो पुलिस सहायता करने के बजाए पीडितों को अफवाहें फैलाने के जुर्म मे गिरफ्तार कर रही है।

Share This Post

Post Comment