किसानों का सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः आलू के दामों में लुटने के बाद अब मक्का व सूरजमुखी के दामों में भी भारी गिरावट से खफा अनेक किसानों ने आज केंद्र व प्रदेश की सरकारों के खिलाफ जमकर नारे बाजी की। भाजपा को किसान विरोधी पार्टी की संज्ञा देते हुए किसानों ने आरोप लगाया कि इतिहास गवाह है कि जब-जब भी केंद्र में भाजपा की सरकार बनी है हर बार किसानों की फसलों को जमकर लूटा गया। जिससे किसानों पर भारी आर्थिक मार पड़ी है। मंडी में मक्का व सुरजमुखी की फसल लेकर आए किसान राजकुमार सुल्तान पुर, फूल ¨सह बाबैन, रुप राम कसीथल, नरेंद्र पाल न बरदार व बलदेव ¨सह रामसरन माजरा, जो¨गद्र ¨सह गणगौरी, भूपेंद्र ¨सह प्रहलाद पुर व कर्म ¨सह चकचान पुर ने आरोप लगाया कि केंद्र एवं प्रदेश सरकारों ने फसलों का समर्थन मूल्य तो बढ़ा दिया है, लेकिन सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर किसानों की फसलों को न खरीद कर हर बार किसानों को प्राइवेट खरीददारों के हाथों ही लुटने पर मजबूर होना पड़ा। किसानों ने आरोप लगाया कि गत पिछले वर्षों में 1400 रुपये प्रति क्विंटल से ऊपर बिकने वाला मक्का आज मात्र 700 से 800 रुपये प्रति ¨क्वटल तक ही बिक रहा है। जिससे किसानों को भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है।

Share This Post

Post Comment