बृज लाल यादव की संंदिग्ध परिस्थितियो मे मौत

गोंडा, उत्तर प्रदेश/राघवेन्द्र कुमार सोनीः जनपद गोण्डा के थाना छपिया अन्तर्गत स्थित ग्राम पंंचायत भवाजितपुर बभनान रोड मसकनवां निवासी बृज लाल यादव की संंदिग्ध परिस्थितियो मे हुई मौत के मामले मे परिजनो ने हत्या की आशंंका जताई है। बताया जाता है कि थाना छपिया के ग्राम पंंचायत भवाजितपुर निवासी बृज लाल यादव मसकनवां से बभनान जाने वाली सडक पर हरिजन कालोनी से कुछ दूरी स्थित पूरब मे चाय की दुकान चलाते थे सूत्रो के अनुसार उनके पडोसी राकेश गुप्ता से उनका कुछ विवाद था। जिसको लेकर राकेश गुप्ता द्वारा बृज लाल यादव व उनके नाबालिग लडके किशन लाल के विरुद्ध छपिया थाने मे गंंम्भीर आरोप लगाते हुए लिखित शिकायत की थी। इस शिकायत पर छपिया पुलिस बृज लाल यादव व उनके नाबालिग लडके को लगभग एक सप्ताह तक छपिया थाने मे बैठा कर जांंच करते रहे। इस बीच आरोप को गंंम्भीरता के श्रेणी मे लेते हुए सी. ओ. मनकापुर विजय आंंन्नद ने स्वयं जांंच की घटना स्थल पर पहुंंचकर कई लोगो के बयान भी लिए थे। लेकिन इस बीच लगभग एक सप्ताह तक बैठाने के बाद छपिया पुलिस ने 14 जून 2017 को बाप और बेटे को यह कहते हुए छोडा था कि तुम कुछ दिन यहां दिखाई न पडना। बृज लाल यादव थाने से छूटने के बाद 15 जून को लखनऊ के लिए चला गया बृज लाल का लडका गोविन्द लाल लखनऊ मे ही कही पर प्राइवेट नौकरी करता है। उसकी ससुराल बछरहवा के पास है। बृजलाल यादव के मोबाईल नम्बर से किसी ने रात 11 बजे गोविन्द लाल के पास फोन किया कि बछरहवा रेलवे स्टेशन के पास एक मृत्यक व्यक्ति पडा है। उसके पास मोबाईल थी उसी से हम फोन कर रहे है। उस पर गोविन्द लाल मौके पर पहुंंचा तो उसने देखा कि सिर के पीछे व गले के पास चोट के निशान है। जिससे खून निकल रहा उस पर अपने पिता बृज लाल यादव को एंंबुलेंंस से प्राइवेट हास्पिटल ले गया जहां डाक्टरो ने मृत्यु घोषित कर दिया। उसके बाद गोविन्द लाल अपने पिता मृत्यक बृज लाल यादव को लेकर सीधे अपने घर पर पहुंंचकर उक्त घटना के सम्बन्ध मे छपिया थानाध्यक्ष को जानकारी दी। घटना की खबर सुनते ही हजारो की संंख्या इलाके के लोग देखने के लिए जुट गये व घर मे परिजन के विलाप से मौके पर मौजूद सभी की आंखे नम हो गई इस बीच थानाध्यक्ष छपिया व चौकी प्रभारी मसकनवां भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंंचे जिस पर परिजनो ने हत्या की आशंंका जताई लेकिन छपिया पुलिस ने इसे हत्या मानने से इन्कार करते हुए दुर्घटना करार देते हुए परिजनो को यह सलाह दी ले जाकर दाह संंस्कार करो। लेकिन परिजन हत्या की बात करते हुए चार लोगो के विरुध तहरीर थानाध्यक्ष छपिया को दिया। जिस पर थानाध्यक्ष ने यह कहते हुए तहरीर लेने से इन्कार करते हुए कहा कि यह घटना बछरहवा जिला रायबरेली का है। वहां तुमको तहरीर देनी चाहिए थी। मै इतना कर सकता हूं कि पोस्टमार्डम करवाये दे रहा हूं अगर मुकदमा लिखना है तो तुम्हे बछरहवा पुलिस के पास जाना पडेगा। वैसे पूरे क्षेत्र मे बृज लाल यादव की संंदिग्ध परिस्थितियो मे हुई मौत की चर्चा बनी हुई क्षेत्र मे तरह-तरह की बाते हो रही है। छपिया पुलिस ने लाश को पंंचनामा कर पोस्टमार्डम के लिए भेज दिया है। इस दुखद घटना के सुनते ही पूर्व ब्लाक प्रमुख छपिया बाबू राम यादव ने पीडित परिजनो से मिलकर संंवेदना व्यक्त करते हुए न्याय दिलाने की बात कही इस संंवेदना की कडी झिनकन शुक्ल, दाढी यादव, संंजय यादव, सच्चिता नन्द पाण्डेय, राकेश सिंंह, अतीता नन्द तिवारी पहलवान सहित क्षेत्र के तमामे लोगो ने संंवेदना जताया है।

Share This Post

Post Comment