घर में खुशहाली को ज्‍योतिषी के चक्‍कर में पड़ी महिला,10 लाख गंवाए

करनाल, हरियाणा/नगर संवाददाताः घर में खुशहाली के लिए ज्‍योतिषी के चक्‍कर में पड़कर महिला ने अपना सुख-चैन ही गंवा दिया। ज्‍योतिषी होने का दावा करने वाले तीन लोगों ने बड़े अनर्थ का भय दिखाकर कर्मकांड करने के नाम पर उससे करीब 10 लाख रुपये ठग लिये। शिकायत के बाद पुलिस ने दो भाइयों समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। अदालत ने उन्हें तीन दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया। करनाल के सेक्टर छह निवासी ज्योति तंवर ने बताया कि करीब तीन माह पहले उसके बेटे अमरदीप तंवर ने राधे ज्योतिषाचार्य नाम से एक वेब साइट देखी। उसने वहां दिए गए फोन नंबर पर संपकर् किया तो दिल्ली के मनोज नामक व्‍यक्ति से बातचीत हुई। इसके बाद उनकी वाट्सएप पर चैटिंग भी हुई। महिला के अनुसार, मनोज ने बताया कि वह कर्मकांड कर घर के सभी कष्ट दूर कर देगा। अमरदीप ने इस बारे में अपनी मां ज्योति तंवर को बताया। ज्योति ने मनोज से बातचीत की और कहा कि वह अपने दोनों पुत्रों के कष्ट को दूर करवाना चाहती है। इसके बाद मनोज के कहने पर पहले 14 हजार और फिर 44 हजार रुपये उसके खाते में डाल दिए। महिला ने बताया कि बाद में फोन पर संपर्क किया तो मनोज व उसके भाई आकाश ने कहा कि कष्ट दूर करने के लिए 20 किलो चीनी व डेढ़ लाख रुपये और देने होंगे। यह राशि देने के बाद वह कहने लगे कि कष्ट ज्यादा है, इसलिए श्मशान में 101 अघोरी साधुओं से पूजा करवानी होगी पूजा करेंगे और करीब आठ लाख रुपये खर्च आएगा। यदि इस बारे में किसी को बताया तो उसकी व उसके बेटे की मौत हो जाएगी। झांसे में आकर ज्योति तंवर ने आठ लाख रुपये की राशि भी दे दी। बाद में जब छानबीन की तो ठगी का पता चला। पुलिस ने महिला के बयान पर मामला दर्ज करते हुए नई दिल्ली के रघुबीर नगर के मकान नंबर 131डी में रहने वाले मनोज, आकाश और आकाश के साले गुलशन निवासी सफीदों गेट जींद को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि मनोज मोबाइल की दुकान चलाता है। राधे ज्योतिषाचार्य एप से वह लोगों से ठगी करते हैं। इसमें मनोज का भाई अशोक व उसके दो साले गुलशन और राहुल भी शामिल है। पुलिस ठगी गई राशि बरामद करने के लिए लिए अभियुक्तों को राजस्थान लेकर जाएगी।

Share This Post

Post Comment