विकास कार्यों की मासिक समीक्षा में डीएम ने दिखाए तेवर, फर्जी आंकड़े न देने की दी चेतावनी

विकास कार्यों की मासिक समीक्षा में डीएम ने दिखाए तेवर, फर्जी आंकड़े न देने  की दी चेतावनी

गोंडा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबूः सभी निर्माणदाई संस्थाओं के अधिकारी मीटिंग में पूरी तैयारी के साथ आएं, फर्जी आंकड़ों से बाज आएं एवं निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझौता किया तो ठीक नहीं होगा। घटिया क्वालिटी मिलने पर सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों के खिलाफ वे तत्काल कठोर कार्यवाई करेगें। यह चेतावनी डीएम जेबी सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा के दौरान दी है।डीएम श्री सिंह ने बैठक से बिना सूचना नदारद रहे उपनिदेशक मण्डी व मण्डी सचिव से स्ष्टीकरण भी तलब किया है।  डीएम ने बैठक में विभागीय अधिकारियों को सख्त नसीहत दी है कि डीएम की बैठक में बाबू या किसी अन्य अधीनस्थ को कतई न भेजें तथा मुख्यमंत्री संदर्भ एवं अन्य माध्यमों से प्राप्त हो रही जन शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें। उन्होने कहा कि अब उनके द्वारा आईजीआरएस के तहत प्राप्त शिकायतों की समीक्षा हर हफ्ते स्वयं की जाएगी तथा सुधार न करने वाले अधिकारियों को निश्चित ही दण्उित किया जाएगा। उन्होने निर्देश दिए कि समाचार पत्रों में विभागों से सम्बन्धित प्रकाशित हो रही खबरों का स्वतः संज्ञान लें और उसकी जांच कराकर कार्यवाही करें। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान जिल में 134 के सापेक्ष निर्मित 101 स्वास्थ्य उपकेन्द्रों की भौतिक जांच कराकर रिपोर्ट देने तथा निर्माणाधीन 15 उपकेन्द्रों के निर्माण की प्रगति से अवगत कराने के निर्देश सीएमओ को दिए हैं। ग्राम स्वास्थ्य एवं स्वच्छता समिति के अनटाइड फण्ड के खर्च में जनपद की स्थिति बेहद खराब मिलने पर डीएम ने डीपीआरओ और सीएमओ को निर्देश दिए हैं कि एक माह के भीतर इसमें प्रगति आ जानी चाहिए। इसके लिए वे एएनएम और ग्राम प्रधान के बीच समन्वय बनवाकर गांवों में साफ-सफाई व अन्य आवश्यक उपकरण क्रय करवाएं। जननी सुरक्षा योजना में संतोषजनक स्थिति नहीं पाई। इस पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएमओ को प्रभावी कार्यवाही करते हुए एक माह के भीतर शत-प्रतिशत भुगतान कराकर रिपोर्ट दें। इसके अलवा डीएम ने समीक्षा बैठक में सरकार की मंशानुसार जनपद की सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश पीडब्लूडी, मण्डी व अन्य निर्माण संस्थाओं को दिए हैं समीक्षा बैठक में एनएचएम, नियमित टीकाकरण, कौशल विकास मिशन, अस्पतालों के निर्माण कार्य, बालिका छात्रावास, आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण, स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौंचालयो के निर्माण, राशन कार्डों के सत्यापन, राज्य पोषण मिशन के तहत कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन एवं स्वास्थ्य लाभ, पशुओं के टीकाकरण, अन्धता निवारण कार्यक्रम सहित अन्य विकास व लाभार्थीपरक योजनाओं की गहन समीक्षा की। जनेश्वर मिश्र योजना के तहत मार्केटिंग हबों का निर्माण कार्य न पूरा होने पर मण्डी सचिव के प्रतिनिधि को  जमकर फटकार लगाई है। 46 किलोमीटर लम्बे निर्माणाधीन फोरलेन के निर्माण कार्य की बेहद धीमी प्रगति पर डीएम ने एक्सईएन पीडब्लूडी खण्ड-2 को कड़ी फटकार लगाते हुए जवाब तलब किया है। निर्देश दिए हैं कि नगर क्षेत्र में निर्माणाधीन सीसी रोड सड़क के किनारे दो माह के भीतर नाली हर हाल में बनवा दें जिससे नगर में जलभराव न होने पावे। बैठक में सीडीओ दिव्या मित्तल, डीडीओ अनिल कुमार, सीएमओ डा0 उमेश यादव, पीडी बीरपाल, डीसी मनरेगा अशोक मौर्य, डीएफओ टी0 रंगाराजू,  डीडी एग्रीकल्चर मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी विनय सिंह, डीसीओ पीएन सिंह, डीपीओ मनोज कुमार राव, सीवीओ, अल्पसंख्यक कल्याण अािकारी एस. के.  सिंह, एक्सईएन विद्युत व लोक निर्माण विभाग सहित व अन्य सम्बन्धित विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment