गुजरात यूथ कांग्रेस की मांग, ‘गाय को घोषित किया जाए राष्ट्रीय पशु’

गुजरात यूथ कांग्रेस की मांग, ‘गाय को घोषित किया जाए राष्ट्रीय पशु’

अहमदाबाद, गुजरात/नगर संवाददाताः वध के लिए पशु बाजारों में पशुओं की खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के केंद्र के आदेश के बाद शुक्रवार को गुजरात में कांग्रेस की युवा शाखा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग की। केरल में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सार्वजनिक तौर पर बछड़े को काटे जाने की घटना की गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के निंदा करने और कांग्रेस से इसके लिए माफी मांगने की बात कहने के बाद यह मांग की गई है। कांग्रेस की युवा शाखा के महासचिव पार्थिवराज कठवाडी ने कहा कि गुजरात में बीजेपी सरकार की रूचि गाय से अधिक गौचर में है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार पहले भी हजारों हेक्टेयर गौचर कई उद्योगपतियों को दे चुकी है। केरल में युवा कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा सरेआम गौवध किए जाने और तमिलनाडु में बीफ फेस्टिवल के आयोजन के विरोध में शुक्रवार को राष्ट्रीय गौ रक्षक दल ने प्रदर्शन किया। दल ने राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा. उसमें कहा गया है कि केरल में हुए गौवध से हिन्दुओं की आस्था को चोट पहुंची है। ज्ञापन में कहा गया है कि गौ माता में हिन्दू धर्म के 33 करोड़ देवी-देवता निवास करते हैं। गौवध किया जाना सीधे सीधे धर्म पर किया गया वार है। ज्ञापन में तमिलनाडु में आईआईटी मद्रास के उन 50 छात्रों के प्रति सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की गई, जिन्होंने सरेआम बीफ फेस्टिवल का आयोजन किया था। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आईआईटी के इन छात्रों ने सड़क पर बीफ फेस्टिवल का आयोजन कर हिन्दू धर्म की आस्था पर प्रहार किया है। राष्ट्रीय गौ रक्षक दल महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष ज्योति शर्मा ने कहा कि हम राष्ट्रपति से अनुरोध करते हैं कि तमिलनाडु, केरल और पश्चिम बंगाल की राज्य सरकारों को केंद्र सरकार के नए नियम लागू करने के सख्त निर्देश दिए जाएं और इन राज्यों में गौ हत्या बंद हो।

 

Share This Post

Post Comment