धुम्रपान करने पर काटा चालान, दुकानों से हटाए विज्ञापन बोर्ड

पाली, राजस्थान/महेन्द्र कुमारः  विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर बुधवार को पाली शहर सहित जिले भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर पुलिस विभाग एवं चिकित्सा विभाग की संयुक्त कार्यवाही कर सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान कर रहे लोगों के चालान कर जुर्माना वसूला गया। साथ ही दुकानों पर लगे तंबाकू उत्पादों के विज्ञापन बोर्ड को भी हटाया गया तथा लोगों को तंबाकू से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया गया तथा धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रेरित किया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसएस शेखावत ने बताया कि बुधवार 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर स्वास्थ्य विभाग के जिला तम्बाकू नियन्त्रण प्रकोष्ठ के द्वारा शहर के जिला अस्पताल, कलेक्ट्रेट, रेलवे स्टेषन, साइंस पार्क, पुराना बस स्टेण्ड पर कोटपा की धारा 4 व 6 में कार्यवाही की गई। धारा 4 के तहत सार्वजनिक स्थान पर जो बीड़ी सिगरेट पीते पाये गये उन सभी पर जुर्माना किया गया। जिले में कुल 147 चालान किये गये। कोटपा की धारा 5 के तहत तम्बाकू उत्पाद का प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से विज्ञापन नहीं किया जा सकता इसी की पालना में जिन भी दुकानों पर तम्बाकू के विज्ञापन पाये गये उनको पुलिस जाप्ते के सहयोग से हटाया गया। उन्होंने बताया कि नहर से लेकर नया गाँव तक व शहर में 45 तम्बाकू के विज्ञापन बोर्ड हटाये गये। राष्ट्रीय तम्बाकू नियन्त्रण कार्यक्रम टीम ने शहर के मुख्य स्थानों पर जाकर तम्बाकू से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकरी पम्पलेट व आईईसी के माध्यम से आमजन को बताया गया। टीम द्वारा बांगड़ अस्पताल, बस स्टेण्ड पर मौजुद सभी लोगों को पम्पलेट देकर तम्बाकू से होने वाले नुकसानों के बारे में बताया एवं तम्बाकू छोड़ने से होने वाले फायदों के बारे में बताया। पम्पलेट के माध्यम से यह बताया गया कि तम्बाकू छोड़ने से टी.बी., अस्थमा, दिल की बीमारी, फेफड़ों की बीमारी, लकवा व अन्य बीमारीयों के होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। चिकित्सा एवं पुलिस विभाग की संयुक्त कार्यवाही में अस्पताल, कलेक्ट्रेट, रेलवे स्टेशन, साइंस पार्क, नया बस स्टेण्ड, हाऊसिंग बोर्ड, मील गेट एरिया आदि में चालान, बोर्ड हटाने एवं जागरूकता का कार्यक्रम किया गया। टीम में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जिला सलाहाकार डॉ. संजय शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता रामकिशन योगी, मनोवैज्ञानिक संगीता जोधा, डीईओ रेवन्तराम कुम्हार एवं कोतवाली पुलिस जाब्ता का सहयोग रहा।

Share This Post

Post Comment