दसवीं के रिजल्ट में फेरबदल के खिलाफ सड़कों पर उतरी छात्राएं

कैथल, हरियाणा/नगर संवाददाताः हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा ली गई दसवीं की परीक्षा के नतीजों में परिणाम घोषित होने के चंद घंटों बाद ही फेरबदल किए जाने के खिलाफ छात्राएं सड़कों पर उतर आई हैं। बता दें, इसमें कई एेसी छात्राएं थी जो पहले तो मेरिट में थी, लेकिन बाद में वह फेल हो गई। इन छात्राओं का कहना है कि पहले वह प्रथम श्रेणी में पास थी, तीन घंटे बाद ही चार विषयों में फेल दिखा दी गई। पिहोवा चौक पर शहर के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छह छात्राओं ने भिवानी बोर्ड के खिलाफ गांधीगीरी शुरू की। लगभग पांच घंटे तक चले ऊहापोह और किरकिरी के बाद सोमवार देर शाम हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने कक्षा दस के संशोधित परीक्षा परिणाम घोषित किया था। इसके पहले लगभग सवा तीन बजे बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह एवं बोर्ड के सचिव अनिल नागर ने बोर्ड मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंंस कर परिणाम और टॉप करने वाले विद्यार्थियों की सूची जारी की थी। टॉपर सूची जारी होते ही कई विद्यार्थियों ने खुद को लिस्ट में शामिल किए जाने की मांग करते हुए बोर्ड कार्यालय में फोन करने शुरू कर दिए। इसके बाद सूची चेक की गई तो बोर्ड अधिकारियों को गड़बड़ी का एहसास हुआ। तुरंत परिणाम वापस ले लिया गया और दो कर्मचारी निलंबित कर दिए गए। बाद में देर शाम संशोधित मेरिट लिस्ट जारी कर दी गई। बोर्ड की तरफ से बताया गया कि परिणाम में कोई संशोधन नहीं है, केवल मेरिट लिस्ट में संशोधन किया गया है।

Share This Post

Post Comment