माउंट एवरेस्ट फतेह करने के बाद लापता भारतीय पर्वतारोही की मौत

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः माउंट एवरेस्ट पर लापता हुये 27 वर्षीय भारतीय पर्वतारोही की विश्व की सबसे उंची चोटी फतह करने के बाद लौटते समय करीब 200 मीटर नीचे गिरने से मौत हो गयी। एक अधिकारी ने आज कहा कि इस सीजन में पहाड़ियों पर हुई यह पांचवीं मौत है। पर्यटन विभाग के महानिदेशक दिनेश भट्टाराई ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के रहने वाले रवि कुमार की 8,200 मीटर की उंचाई, जिसे चर्चित रूप से बालकनी के तौर पर जाना जाता है, से गिरने से मौत हो गई। उन्होंने बताया, ‘‘माउंट एवरेस्ट पर तैनात हमारे संपर्क अधिकारी ने पुष्टि की है कि शिखर से उतरने के दौरान ‘बालकनी’ से 150-200 फुट नीचे गिरने के बाद उसकी मौत हो गयी।’’ ‘बालकनी’ पहाड़ी के दक्षिणी शिखर पर चढ़ने से पहले पर्वतारोहियों का आखिरी विश्रामस्थल होती है। इसके साथ ही नेपाल की तरफ माउंट एवरेस्ट पर मरने वाले लोगों का आंकड़ा पांच तक पहुंच गया है। कुमार ने शनिवार को दोपहर 1 बजकर 28 मिनट तक सफलतापूर्वक माउंट एवरेस्ट की 8,848 मीटर की उंचाई नापी थी। वहीं शिविर 4 में शीतदंश से प्रभावित उनका पर्वतारोही गाइड लाकपा वांग्या शेरपा भी बेहोश पाया गया। उतरते वक्त कुमार और उनके गाइड अलग-अलग हो गये थे।

Share This Post

Post Comment