सचिव ने कहा 2000 दो, तब मिलेगा मृत्यु प्रमाण पत्र

सचिव ने कहा 2000 दो, तब मिलेगा मृत्यु प्रमाण पत्र

गौंडा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबूः जनपद गोण्डा के विकास खण्ड छपिया मे मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा पाना आसान नही ग्राम पंचायत खालेगांव मे पति के कैंसर से हुई मौत के चलते पीडित महिला मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए दर–दर भटक रही है लेकिन ग्राम पंचायत अधिकारी 2000 रुपये से कम पर जांच रिर्पोट लगाने को तैयार नही। विकास खण्ड छपिया के ग्राम पंचायत खालेगांव के बाबू राम की मौत 30 जनवरी 2017 को कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी से हो गयी थी। बाबू राम भारतीय रेलवे के त्रतीय श्रेणी के रिटायर्ड कर्मचारी थे। रिटार्यड होने के बाद मिले सारे पैसे उनकी दवाई मे खर्च हो गये। उनकी पत्नी सुघरा देवी ने अपने पति के मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए लोकवाणी/जनसेवा केन्द्र से 02/04/2017 को मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया था। आवेदन के उपरान्त ग्राम पंचायत सचिव खालेगांव सुधांशु वर्मा जांच करने पीडित महिला के घर गये तथा घर के आस–पडोस से जानकारी करने के पश्चात पीडित महिला से 2000 रुपये की मांग करने लगे, पीडित महिला ने उक्त ग्राम पंचायत सचिव को 500 रुपये देते हुए यह कहा कि पति की कैंसर की बीमारी मे सारे पैसे खर्च हो गये है। 2000 रुपये कहा से लाऊ। इस पर उक्त ग्राम पंचायत सचिव ने 500 रुपये लेने से मना करते हुए यह कहा कि इतने मे नही हो पायेगा। देखते है कौन जारी करेगा हमारी रिर्पोट के बिना मृत्यु प्रमाण पत्र, इस पर मजबूर वृद्ध पीडित महिला अपने ग्राम पंचायत खालेगांव के प्रधान प्रतिनिधि गंगा राम यादव से मिली तो प्रधान प्रतिनिधि ने उक्त ग्राम पंचायत सचिव सुधांशु वर्मा से बात की तो वह सफाई देते हुए पैसे मांगने की बात से मुकरते हुए झूठी बताई तथा पैसे मागने की बात से इन्कार किया। लेकिन दूसरे दिन उक्त ग्राम पंचायत सचिव ने पीडित महिला को धमकाते हुए कहा तुम चाहे जितना जुग़ाड /पहुंच लगाओ बिना रुपये के मृत्यु प्रमाण पत्र जारी नही हो पायेगा। मजबूर होकर पीडित वृद्ध महिला सुघरा देवी ने मुख्य मंत्री को 10/05/2017 को रजिस्टर्ड डाक से शिकायत कर मृत्यु प्रमाण पत्र दिलाये जाने/दोषी ग्राम पंचायत सचिव को ऊपर कार्यवाही किये जाने की मांग की है।

Share This Post

Post Comment