हंसराज अहीर बोले, कुलभूषण जाधव की आजादी के लिए लड़ता रहेगा भारत

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है, जिन्‍हें पाकिस्‍तान की सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। इस बीच गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने कहा है कि भारत को पूरा यकीन है कि जाधव को मृत्यु की सजा नहीं मिलेगी। भारत कुलभूषण जाधव की आजादी के लिए लड़ता रहेगा। हंसराज अहीर को विश्‍वास है कि जाधव को अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट से फांसी की सजा नहीं मिलेगी। उनका कहना है कि भारत ने जाधव के मामले में अपना पक्ष अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट के समक्ष रख दिया है। उन्‍होंने कहा, ‘मुझे यकीन है कि जाधव को अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट में न्‍याय मिलेगा। हमें विश्‍वास है कि उन्‍हें फांसी की सजा नहीं मिलेगी। हम जाधव को न्‍याय दिलाने के लिए पूरी ताकत से लड़ेंगे।’ अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट की 11 जजों की बेंच जाधव के केस की सुनवाई कर रही है। भारत की तरफ से दिग्‍गज वकील हरीश साल्वे, जाधव का पक्ष रखने पहुंचे हैं। उधर पाकिस्तान की ओर से तहमीना जांजुआ पक्ष रखने इंटरनेशल कोर्ट पहुंची हैं। भारत का कहना है कि पाकिस्तान ने पूर्व नौसैनिक अधिकारी से दूतावास संपर्क के लिये दिए गए 16 आवेदनों की अनदेखी कर वियना संधि का उल्लंघन किया है। बता दें कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाई है, जिसके खिलाफ भारत ने अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट में अपील की है। भारत ने 8 मई को अंतररराष्‍ट्रीय कोर्ट में याचिका दायर कर कुलभूषण जाधव के लिए न्याय की मांग की थी।

Share This Post

Post Comment