निर्भया फंड के तहत 900 से ज्यादा रेलवे स्टेशन पर लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः भारतीय रेलवे निर्भया फंड के तहत 500 करोड़ की लागत वाली राशि से रेलवे परिसरों की सुरक्षा मजबूत करने के लिए 900 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरा लगाएगा। पूरे देश के भीतर 983 रेलवे स्टेशन पर 19,000 एचडी सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए जल्द ही टेंडर निकाला जाएगा। रेलवे स्टेशन पर महिलाओं समेत सभी लोगों की सुरक्षा 24 घंटे सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है। देश में महिलाओं की सुरक्षा और उनके सम्मान की रक्षा के लिए सरकार और एनजीओ के प्रयासों को मदद देने के लिए केंद्र सरकार ने साल 2013 में केंद्रीय बजट में 1000 करोड़ की राशि के साथ निर्भया फंड बनाया था। ये कैमरे प्लेटफॉर्म और वेटिंगरूम वाले क्षेत्रों में लगाए जाएंगे। प्रशिक्षित आरपीएफ कर्मचारियों के जरिए लगातार सीसीटीवी फुटेज की निगरानी के लिए स्टेशन पर नियंत्रण कक्ष होंगे। रेलवे मंत्रालय के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि स्टेशन मास्टर को भी सीसीटीवी कैमरा फुटेज पर निगरानी का अधिकार दिया जाएगा. रेलवे के पास 8,000 स्टेशन हैं, जिनमें से मौजूदा समय में 344 स्टेशन पर पहले से ही सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। अधिकारी ने बताया, ‘‘यह हमें बड़े पैमाने पर मदद करने जा रहा है। स्टेशन पर लगे ‘यू आर अंडर वॉच (आप निगरानी में हैं)’ से अपराधी मानसिकता वाले लोगों में अपराध को लेकर हिचक पैदा होती है।’’ रेलवे का लक्ष्य चरणबद्ध तरीके से सभी स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने का है। स्टेशन के अलावा राजधानी जैसी महत्वपूर्ण ट्रेनों में भी इस योजना के तहत सीसीटीवी कैमरा लगाया जाएगा। वहीं शान-ए-पंजाब एक्सप्रेस इस प्रणाली से पूरी तरह से लैस है।  मुंबई उपनगरीय सेवा के कुछ महिला कोच में पायलट प्रोजेक्ट के तहत कैमरे लगाए जा रहे हैं। हमसफर एक्सप्रेस और आने वाली तेजस सेवा भी सीसीटीवी कैमरे से लैस होगी।

Share This Post

Post Comment