उत्तराखंड के पांच पर्वतीय जिलों में मौसम खुशनुमा है तो बाकी जगह पारा उछाल भर रहा

देहरादून, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः उत्तराखंड के पांच पर्वतीय जिलों में मौसम खुशनुमा है तो बाकी जगह पारा उछाल भर रहा है। मैदानी इलाके गर्मी से हलकान हैं और रही-सही कसर गर्म हवा के थपेड़े पूरी कर रहे हैं । मौसम यही रंग लिए है। केदारनाथ धाम में जबरदस्त ओलावृष्टि हुई तो गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में बौछारें पड़ीं। उत्तरकाशी जिले के विभिन्न क्षेत्रों में तेज हवा के साथ हल्की बारिश हुई। वहीं, मैदानी क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 38 से 41 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा, जबकि पहाड़ के कुछ हिस्सों में 29 डिग्री के बीच तापमान रहा। मौसम विभाग के मुताबिक अभी मौसम के मिजाज में तब्दीली के आसार नहीं हैं। अलबत्ता, 16 मई से सूबे में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा मिल सकती है। रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ व बागेश्वर जनपदों में इन दिनों गाहे-बगाहे बारिश, ओलावृष्टि व चोटियों पर हिमपात भी हो रहा है। इससे वहां मौसम में ठंडक बनी हुई है। रुद्रप्रयाग जिले में मौसम ने पलटी मारी और इसी के साथ केदारनाधाम धाम में करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि और फिर बारिश भी हुई। अन्य स्थानों पर भी कहीं बूंदाबांदी तो कहीं हल्की फुहारें पड़ीं। सूबे के अन्य जनपदों में पारे की उछाल व उमस हलकान कर रही है। मैदानी क्षेत्रों में लू के थपेड़ों के चलते दुपहरी में निकलना दूभर हो रहा है। देहरादून की ही लें तो रविवार को यहां तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि पंतनगर में 40.4। दूसरे मैदानी इलाके भी खूब उबले। यही नहीं, पर्वतीय क्षेत्र के मुक्तेश्वर, टिहरी में भी अधिकतम तापमान 28 से 29 डिग्री सेल्सियस के बीच चल रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र, देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह बताते हैं कि यह प्री-मानसून सीजन है और इस दरम्यान थंडर स्ट्रॉम अथवा थंडर शॉवर (तेज हवा, गरज-चमक के साथ वर्षा व ओलावृष्टि) अधिक बनते हैं। ये पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने अथवा स्थानीय कारकों के सक्रिय होने से क्षेत्र विशेष में बनते हैं और वह भी बेहद कम समय के लिए। उन्होंने बताया कि हाल में गुजरे पश्चिमी विक्षोभ के बाद पांच पर्वतीय जिलों में नमी बनी है और दिन में हल्की गर्माहट भी है। ऐसे में स्थानीय कारकों के चलते वहां थंडर स्ट्रॉम गतिविधियां हो रही हैं।

 

Share This Post

Post Comment