6 हार्ट अटैक और 12 घंटे सर्जरी के बाद भी जिंदा है चार महीने की बच्ची

मुंबई, महाराष्ट्र/भरतः किसी ने सही कहा है जाको राखे साइयां, मार सके न कोय. आर्थिक राजधानी मुंबई के परेल हॉस्पिटल में 4 महीने की विदिशा का इलाज चल रहा था। पिछले दो महीने से विदिशा इसी अस्पताल में भर्ती थी।दरअसल विदिशा महज 45 दिन की थी। तभी माँ का दूध पीने के बाद अचानक बेसुध हो गई। अपनी बेटी की बिगड़ती हालत को देख के परिवार के माँ-बाप नजदीक के अस्पताल में लेकर गए। जहां से डॉक्टरों ने उन्हें वाडिया अस्पताल जाने की सलाह दी। जहां के जांच के दौरान पता चला की मासूम विदिशा को हार्ट डिफेक्ट है। उसके बाद विदिशा को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। इसके बाद विदिशा का ऑपरेशन शुरू किया गया। ऑपरेशन का यह दौर पूरे 12 घंटो तक चला और उस दौरान विदिशा को 6 बार हार्ट अटैक आया और उच्च फ्रीक्वेंसी वाले ऑसिलेटरी वेंटलिटर उपयोग कर के डॉक्टरों ने विदिशा के फेफड़े को स्थिर किया। लेकिन इस जीवन और मौत की लड़ाई में विदिशा जीत गई। वहीं ऑपरेशन की सफलता के बाद हर किसी ने इसे एक चमत्कार मानने लगे हैं। वहीं विदिशा की माता और पिता विनोद वाघमाड़े डॉक्टरों और भगवान का शुक्रिया अदा कर रहे हैं। बता दें इस इलाज के लिए 5 लाख रुपयों का खर्च था। लेकिन विदिशा के पिता विनोद सिर्फ 25 हजार रुपए ही जमा कर पाए। लेकिन पैसों की कमी के कारण इलाज नही रुका और बाकी की राशि हॉस्पिटल के डोनर्स ने दी।

Share This Post

Post Comment